Bihar Heavy Rain : समस्तीपुर सहित बिहार के कई ज़िलों में 5 तक भारी बारिश की संभावना.

समस्तीपुर में पिछले दो दिनों से हो रही बारिश ने अधिकतम तापमान में गिरावट लाई है, जिससे गर्मी और उमस से परेशान लोगों को राहत मिली है। हालांकि न्यूनतम तापमान में कोई विशेष परिवर्तन नहीं हुआ है। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में बारिश और तेज हवा की संभावना को देखते हुए अलर्ट जारी किया है।

समस्तीपुर जिले में रविवार और सोमवार को हुई बारिश ने अधिकतम तापमान को सामान्य से 0.3 डिग्री सेल्सियस अधिक रहते हुए 33.5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा दिया। न्यूनतम तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह में सापेक्ष आर्द्रता 96% और दोपहर में 76% रही। इस दौरान 6.3 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पुरवा हवा चली। मौसम विभाग ने मंगलवार को राज्य के उत्तर पश्चिम और दक्षिण भाग के जिलों में तेज मेघ गर्जन, वज्रपात, और 30-40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलने की संभावना के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। वहीं बुधवार को पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, वैशाली, और पूर्णिया जिलों में भारी बारिश की संभावना के चलते येलो अलर्ट जारी किया गया है।

किसानों के लिए यह समय धान की रोपाई के लिए महत्वपूर्ण है। जिन किसानों के पास धान का बिचड़ा तैयार है, वे नीची और मध्यम जमीन में रोपाई करें। जहां बारिश कम हो, वहां सिंचाई की व्यवस्था वाले किसान धान की रोपाई करते समय उर्वरकों का उपयोग मिट्टी जांच के आधार पर करें। यदि मिट्टी की जांच नहीं कराई गई है, तो मध्यम और लंबी अवधि की किस्मों के लिए 30 किलोग्राम नाइट्रोजन, 60 किलोग्राम फॉस्फोरस, 30 किलोग्राम पोटाश और 25 किलोग्राम जिंक सल्फेट या 15 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर चिलेटेड जिंक का उपयोग करें।

जिन किसानों ने अब तक धान का बिचड़ा नहीं गिराया है, उन्हें जल्द से जल्द नर्सरी तैयार करने की सलाह दी गई है। एक हेक्टेयर क्षेत्रफल में रोपाई के लिए 800-1000 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में बीज गिराएं। नर्सरी में क्यारियों की चौड़ाई 1.25-1.5 मीटर और लंबाई सुविधानुसार रखें। बीज को बविस्टिन 2 ग्राम प्रति किलोग्राम की दर से मिलाकर बीजोपचार करें।

   

Leave a Comment