Samastipur : समस्तीपुर पंहुचा सेना के जवान का शव, पहुंचते ही मचा कोहराम.

समस्तीपुर ज़िले के मोहिउद्दीन नगर के बाकरपुर गांव के निवासी सेना के जवान रजनीश कुमार सिंह की अचानक मौत से पूरा गांव शोक में डूब गया है। शनिवार को उनका शव जोधपुर से गांव पहुंचा, जिससे परिवार और ग्रामीणों के बीच मातम का माहौल छा गया।

रजनीश कुमार सिंह, जिन्हें प्यार से बौआ कहा जाता था, 2011 में सेना में भर्ती हुए थे। हाल ही में मिले प्रमोशन के बाद वे जोधपुर में प्रशिक्षण ले रहे थे। अचानक तबीयत बिगड़ने के कारण उनकी मृत्यु हो गई। उनके निधन की खबर मिलते ही गांव में शोक की लहर दौड़ गई।

शव पहुंचने पर सेना के जवानों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया। रजनीश के अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में ग्रामीण और स्थानीय लोग शामिल हुए। उनके अंतिम संस्कार के लिए शव को गंगा तट पर ले जाया गया।

रजनीश कुमार सिंह अपने पीछे माता-पिता, पत्नी अंशु राज और चार वर्षीय बेटे शिवन राज को छोड़ गए हैं। उनकी शादी 2019 में हुई थी और उनके बेटे का चौथा जन्मदिन 7 जुलाई को मनाया जाने वाला था। परिवार के सदस्यों ने बताया कि रजनीश ने बेटे के जन्मदिन पर घर आने का वादा किया था, लेकिन ट्रेनिंग के कारण वे नहीं आ सके।

   

गुरुवार को रजनीश की तबीयत बिगड़ने की सूचना मिलते ही परिवार के लोग सदमे में आ गए। उन्हें सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी।

स्थानीय विधायक राजेश कुमार भी अंतिम यात्रा में शामिल हुए और उन्होंने पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि रजनीश की कुर्बानी से गांव और प्रखंड का सीना गर्व से चौड़ा हो गया है। रजनीश की यादें युगों तक जीवित रहेंगी और उनकी वीरता को लोग हमेशा याद रखेंगे।

Leave a Comment