Samastipur Flood Alert : समस्तीपुर जिले में बाढ़ राहत केंद्रों का चयन कर होगी जियो टैगिंग.

समस्तीपुर जिला प्रशासन ने संभावित बाढ़ की तैयारियों को लेकर व्यापक कदम उठाए हैं। जिला मुख्यालय और प्रखंडों में कटाव निरोधी कार्य और सभी पंचायतों में वर्षा मापक यंत्रों को ठीक कर लिया गया है, ताकि बारिश की माप से बाढ़ की जानकारी दी जा सके। बाढ़ राहत केंद्रों का चयन कर जियो टैगिंग भी की जाएगी, जिससे बाढ़ के दौरान भौगोलिक स्थिति, फोटो, मैप और वीडियो के जरिए सटीक जानकारी प्राप्त हो सके।

डीएम योगेन्द्र सिंह ने अधिकारियों को मिलकर काम करने की सलाह दी है और बाढ़ नियंत्रण के कार्यपालक अभियंता को तटबंध सुरक्षित करने का आदेश दिया है। एसडीओ को तटबंध का निरीक्षण अभियंता के साथ करने का निर्देश दिया गया है।

जिले में 281 निजी नाव मालिकों के साथ एकरारनामा किया गया है, ताकि जरूरत पड़ने पर नावों की सेवा ली जा सके। आपदा प्रबंधन प्रभारी को अंचलों में पॉलिथीन शीट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। जिले में 13,000 पॉलीथीन शीट्स उपलब्ध हैं, जिनका स्टॉक वेरिफिकेशन करने का आदेश दिया गया है।

अनुमंडलों में लाइफ जैकेटों का सत्यापन करने का निर्देश दिया गया है, ताकि वे क्षतिग्रस्त न हों। जिला पदाधिकारी ने निविदा के माध्यम से प्राप्त होने वाली वस्तुओं को समय से पहले प्राप्त करने का निर्देश दिया है। संभावित बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में जीआर वितरण के लिए प्रभावित परिवारों की सूची को अद्यतन कर एनआईसी पोर्टल पर अपलोड करने का निर्देश सभी सीओ और डीआईओ को दिया गया है। गोताखोरों की सूची मोबाइल नंबर सहित बनाने और मॉक ड्रिल करने का भी निर्देश दिया गया है।

   

Leave a Comment