Samastipur Railway Colony : समस्तीपुर रेलवे कॉलोनी में सफाई व्यवस्था ठप, गंदगी का ढेर लगा.

समस्तीपुर रेलवे कॉलोनी में पिछले पांच दिनों से सफाई व्यवस्था पूरी तरह ठप है, जिसके कारण जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। रेलवे प्रशासन की ओर से सफाई व्यवस्था को पुनः चालू करने के प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन अभी तक इसे कब से शुरू किया जाएगा, यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। फिलहाल, मंडल मुख्यालय स्थित सभी कॉलोनियों में सड़क किनारे और आवासों के बाहर गंदगी का ढेर जमा हो गया है।

कांट्रैक्टर की टर्मिनेशन के बाद सफाई व्यवस्था चरमरा गई

रेलवे सूत्रों के अनुसार, पहले से कार्यरत कांट्रैक्टर को टर्मिनेट कर दिया गया था, जबकि नए कांट्रैक्टर ने अभी तक काम शुरू नहीं किया है। वैकल्पिक व्यवस्था किए बिना कांट्रैक्टर को टर्मिनेट किए जाने के कारण सफाई व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। मंडल मुख्यालय में कुल 14 कॉलोनियों में सफाई नहीं हो रही है, जिनमें गंडक कॉलोनी, गांधी पार्क कॉलोनी, स्टेडियम कॉलोनी, मेडिकल कॉलोनी, अधिकारी कॉलोनी, गोल्फ फिल्ड कॉलोनी, एकाउंट्स कॉलोनी, आरपीएफ कॉलोनी, चिल्ड्रेंन पार्क कॉलोनी, डीएस कॉलोनी, ब्रेकडाउन कॉलोनी, जितवारपुर कॉलोनी, और स्टेशन पूर्वी एवं पश्चिमी कॉलोनी शामिल हैं।

स्वास्थ्य कर्मी ने हटाया मरा हुआ कुत्ता

   

सफाई कार्य बाधित होने के कारण हॉस्पिटल कॉलोनी में एक मरा हुआ कुत्ता बदबू फैला रहा था। स्थानीय अधिकारी के पहल पर अस्पताल में कार्यरत कुछ सफाई कर्मियों की मदद से कुत्ते के शव को हटाया गया, जिससे राहत मिली।

पांच लाख में दिया गया टेंडर

रेलवे सूत्रों के अनुसार, रेलवे कॉलोनी की सफाई के लिए पिछले कांट्रैक्टर को लगभग साढ़े चार लाख रुपए प्रति माह दिया जा रहा था। उसे टर्मिनेट कर दिया गया है और नए कांट्रैक्टर को लगभग पांच लाख रुपए प्रति माह की दर से सफाई व्यवस्था की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इस राशि से सभी कॉलोनियों और नालों की सफाई नियमित रूप से की जानी है। पहले सफाई पर लगभग 12 लाख रुपए प्रति माह का खर्च आता था।

Leave a Comment