Samastipur : समस्तीपुर में एएसपी के निर्देश पर नए सिरे से मामले की जांच में जुटी पुलिस.

समस्तीपुर के वारिसनगर थाना क्षेत्र के सतमलपुर पंचायत के बलाही गांव में 16 अप्रैल को रामजी पोखर के समीप मक्के के खेत से एक अज्ञात किशोर का शव बरामद हुआ था। बाद में शव की पहचान नगर थाना क्षेत्र के स्व. मिथिलेश राम के पुत्र गोलू कुमार के रूप में हुई। गोलू 13 अप्रैल को कपड़ा लाने के लिए घर से एक हजार रुपए लेकर निकला था और तब से लापता था। उसकी मां आशा देवी ने गोलू के लापता होने पर नगर थाना में सनहा दर्ज कराया था।

घटना के दो महीने से अधिक समय बीत जाने के बावजूद भी पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई, जिससे क्षुब्ध परिजन और मोहल्ले के लोग रविवार की सुबह एसपी विनय तिवारी से मिलने उनके आवास के पास बैठे थे। हालांकि एसपी से उनकी मुलाकात नहीं हो पाई, लेकिन एएसपी सह सदर एसडीपीओ-1 संजय कुमार पाण्डेय ने मृतक की मां और परिजनों से मिलकर उनकी बात सुनी और तुरंत कार्रवाई का भरोसा दिलाया। उन्होंने संबंधित थानाध्यक्ष को उचित कार्रवाई के निर्देश दिए।

जब पुलिस ने किशोर का शव बरामद किया था, तब शव के गले पर कटे के निशान और चेहरे पर तेजाब से जलने के निशान पाए गए थे। इसके आधार पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या और सबूत मिटाने का केस दर्ज किया था। शव से दुर्गंध आ रही थी, जिससे यह संदेह था कि हत्या दो-तीन दिन पहले किसी अन्य स्थान पर की गई थी और पहचान छुपाने के लिए चेहरे को तेजाब से जलाया गया था।

किशोर की मां आशा देवी ने हत्या के लिए अपने कुछ पाटीदारों पर आरोप लगाया है। मामला डेढ़ कट्ठा जमीन के विवाद से जुड़ा बताया जा रहा है। गोलू घर से भोला टॉकीज गुमटी के पास स्थित एक मॉल में कपड़ा खरीदने के लिए निकला था और फिर लापता हो गया था।

   

एएसपी संजय कुमार पाण्डेय के निर्देश पर अब इस मामले की नए सिरे से जांच की जा रही है। नगर थाना के थानाध्यक्ष आशुतोष कुमार ने बताया कि वरीय पदाधिकारी के निर्देश पर दर्ज सनहा के आधार पर नए सिरे से मामले की जांच शुरू की गई है और जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Comment