Reliance Jewels Samastipur Loot : समस्तीपुर रिलायंस ज्लेवर्स लूटकांड में दो बदमाश धराए.

समस्तीपुर शहर के मोहनपुर रोड स्थित रिलायंस ज्वैलर्स शोरूम में हुए करीब 8 करोड़ की ज्वेलरी लूट कांड का आखिरकार जिला एसआईटी ने खुलासा कर दिया है। इस बार जिला पुलिस की एसआईटी को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर छापेमारी कर गुजरात के सूरत से लूट में शामिल दो लुटेरों को गिरफ्तार किया है। उनकी निशानदेही पर बेचे गए ज्वेलरी के 4.85 लाख रुपये के साथ ही कुछ ज्वेलरी भी बरामद करने में सफलता पाई है। पुलिस की टीम ने दोनों बदमाशों को शनिवार को गुजरात के सूरत से लाकर समस्तीपुर स्थित घटनास्थल पर शोरूम ले जाया गया।

समस्तीपुर पुलिस अधीक्षक विनय तिवारी ने इस घटना की जानकारी मीडिया को दी। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार बदमाश की पहचान वैशाली जिले के चकबालाधारी गांव के सत्यनारायण पासवान के पुत्र राहुल पासवान और जिले के मोहनपुर थाने के पत्थर घाट निवासी रामउदेश के बेटे गगन राज के रूप में की गई है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 13 लोगों ने मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था। घटना में शामिल सभी लोगों की पहचान हो गई है और फरार लोगों की गिरफ्तारी के लिए चार टीमों का गठन किया गया है। उन्होंने बताया कि जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। एसपी ने बताया कि लूटे गए ज्वेलरी के पैसे का बंटवारा अभी नहीं हुआ है।

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि तकनीकी आधार पर राहुल और गगन को सूरत से पकड़ा गया। दोनों आरोपियों के स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर गगन राज के घर की तलाशी ली गई। तलाशी के दौरान उसके घर से ₹3 लाख के अलावा एक सोने की चेन, दो हनुमान चकती, और एक अंगूठी बरामद की गई है। वहीं राहुल पासवान के घर से पुलिस की टीम को 1.85 लाख रुपये बरामद हुए हैं। एसपी ने बताया कि दोनों बदमाशों ने स्वीकार किया है कि घटना में पांच बाइक और दो चारपहिया वाहन का इस्तेमाल किया गया था। घटना में कुल 13 बदमाश घटनास्थल पर आए थे, जबकि दो बदमाश दो चारपहिया वाहन लेकर हलई थाना क्षेत्र के वरुणा पुल के पास रुके हुए थे।

   

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त गगन ने अपने बयान में बताया कि राम बहादुर राय, साकिन दाउदनगर खिलवत, थाना-विदुपुर, जिला-वैशाली तथा कोलकाता रिलायंस ज्वैलर्स लूट कांड में बंद अपराधी छोटू पासवान, जो की वैशाली जिले के सदर थाना के दुर्गा नगर निवासी रामचंद्र पासवान का पुत्र है, ने इस पूरी लूट की घटना की योजना बनाई थी। कर्मवीर और गगन ने दिसंबर में पटोरी थाना क्षेत्र के पटोरी बाजार स्थित अशर्फी लॉज में भाड़े का एक रूम लिया था, जिसमें कर्मवीर और सूरज रहते थे।

10 जनवरी 2024 से 20 जनवरी 2024 के बीच कर्मवीर कुमार, दीपक कुमार और गगन राज बाइक से सुबह और शाम जाकर रिलायंस ज्वैलर्स दुकान का ओपनिंग और क्लोजिंग का समय रेक्की करते थे और कर्मवीर ने इसका वीडियो बनाकर गूगल मैप से दुकान के भीतर का वीडियो भी दिखाया। घटना से पूर्व कर्मवीर ने अपने साथियों के साथ तीन बार प्रयास किया था, परंतु सफलता नहीं मिली थी।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 28 फरवरी की शाम पटोरी स्टेशन के पास सभी बदमाश जमा हुए। इसके बाद पांच बाइक पर कुल 13 अपराधी घटनास्थल पर आए और दीपक कुमार चार चक्का वाहन लेकर हलई थाना क्षेत्र के वरुणा पुल के पास रुका हुआ था। एक चार चक्का गाड़ी कहीं और रखी गई थी जिसका उपयोग आपराधिक घटना के बाद पुलिस की घेराबंदी से बचने के लिए करना था। घटना में कुल 7 अपराधी रिलायंस ज्वैलर्स दुकान में प्रवेश किए और 6 अपराधी बाहर की गतिविधियों पर नजर रखे हुए थे, जिसमें एक पटेल गोलंबर के पास भी मौजूद था। घटना के बाद सभी लोग बाइक से भागे। दीपक कुमार की कार जो वरुणा पुल के पास खड़ी थी उसमें लूटा गया सभी सोना और अन्य आभूषण रखा गया, जिस पर दीपक और कर्मवीर सवार होकर भाग गए। पूछताछ में यह बात सामने आई है कि कर्मवीर रक्षाबंधन से पहले किसी ज्वेलरी दुकान में लूट की योजना बना रहा है। कर्मवीर भी कोलकाता रिलायंस ज्वैलर्स लूट कांड में वांछित है।

2 अप्रैल 2024 को एसआईटी ने सराय रंजन थाना क्षेत्र से इस मामले में वैशाली जिले के चकबालाधारी गांव के बिरजू पासवान के पुत्र वीरू पासवान को पूर्व में गिरफ्तार कर जेल भेजा था। बता दें कि 28 फरवरी की देर शाम बदमाशों ने शोरूम बंद करने के दौरान लूट की घटना को अंजाम दिया था। बदमाशों ने करीब 10 किलो सोना और हीरे जड़ित गहनों की लूट की थी, जिसका बाजार मूल्य करीब 8 करोड़ रुपये बताया गया था।

Leave a Comment