UGC : अब बिहार सहित देश के सभी विश्वविद्यालयों में अब साल में दो बार होगा एडमिशन.

भारतीय विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों में अब विदेशी विश्वविद्यालयों की तर्ज पर वर्ष में दो बार प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जाएगी। यूजीसी ने इस नई पहल को मंजूरी दे दी है, जिससे छात्रों और उद्योग जगत दोनों को लाभ होगा।

दो बार प्रवेश प्रक्रिया

यूजीसी के अध्यक्ष जगदेश कुमार के मुताबिक, शिक्षण सत्र 2024-25 से जुलाई-अगस्त और जनवरी-फरवरी में दो बार प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इस पहल से छात्रों को विशेष लाभ मिलेगा, क्योंकि यदि वे वर्तमान सत्र में प्रवेश से चूक जाते हैं, तो उन्हें एडमिशन के लिए एक वर्ष इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

रोजगार के अवसर

इस नई व्यवस्था से उद्योग जगत के लोग भी वर्ष में दो बार अपने कैंपस चयन की प्रक्रिया संचालित कर सकते हैं, जिससे स्नातकों के लिए रोजगार के अवसर बेहतर होंगे। इससे उद्योगों को योग्य और प्रशिक्षित स्नातक प्राप्त करने में सुविधा होगी, और छात्रों को भी जल्दी रोजगार मिलने की संभावना बढ़ेगी।

यूजीसी की मंजूरी

यूजीसी ने इस नई प्रवेश प्रक्रिया को मंजूरी दे दी है, जो विदेशी विश्वविद्यालयों के प्रवेश प्रणाली की तरह है। यह कदम भारतीय उच्च शिक्षा प्रणाली को और भी लचीला और सुलभ बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण प्रयास है।

   

इस नई व्यवस्था से भारतीय शिक्षा प्रणाली में एक नया आयाम जुड़ जाएगा, जिससे छात्रों और उद्योग जगत को कई फायदे मिलेंगे। यह कदम भारतीय उच्च शिक्षा को अंतरराष्ट्रीय मानकों के करीब लाने में भी मदद करेगा।

Leave a Comment