Traffic Challan : बिहार में बिना बीमा के वाहन चलाने पर 4,000 रुपये का जुर्माना.

बिहार के वाहन मालिकों को अब ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। बिना बीमा के वाहन चलाने पर उन्हें जुर्माने के साथ-साथ जेल की सजा भी हो सकती है। यातायात पुलिस के हाथों पकड़े जाने पर वाहन मालिकों पर 4,000 रुपये तक का जुर्माना और तीन महीने तक की सजा दी जा सकती है। इसे सरकारी आंकड़ों की रोशनी में देखें तो, देशभर में 55% से अधिक वाहन बिना बीमा के सड़कों पर दौड़ रहे हैं, जो कि एक चिंताजनक आँकड़ा है।

मोटर वाहन अधिनियम, 1988 की धारा 146 के अनुसार, हर वाहन के लिए थर्ड पार्टी जोखिमों को कवर करने वाली बीमा पॉलिसी होना अनिवार्य है। यह पॉलिसी दुर्घटनाओं या किसी नुकसान के मामले में पीड़ितों को सहायता प्रदान करती है। वे वाहन मालिक जो बिना वैध बीमा के वाहन चलाते हैं, उन्हें जुर्माना और कारावास दोनों का सामना करना पड़ सकता है।

बीमा पॉलिसी की आवश्यकता इसलिए भी बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि दुर्घटनाओं के समय पीड़ितों को तत्काल वित्तीय सहायता प्रदान करने में यह मदद करती है। बिना बीमा के वाहन चलाने से पीड़ितों की सहायता में बाधाएँ आ सकती हैं, जो कि नैतिक रूप से और कानूनी रूप से गलत है।

अंततः, सभी वाहन मालिकों को चाहिए कि वे अपने वाहनों का बीमा अवश्य करवाएं। इससे वे कानूनी समस्याओं से बच सकते हैं और दुर्घटनाओं के मामले में पीड़ितों को उचित सहायता प्रदान कर सकेंगे।

   

Leave a Comment