NEET UG 2024 : नीट ग्रेस अंक वाले छात्रों को दोबारा देनी होगी नीट-यूजी परीक्षा.

नीट-यूजी परीक्षा में ग्रेस अंक पाने वाले 1563 छात्रों को अब दोबारा परीक्षा देनी होगी। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने इन सभी छात्रों के ग्रेस अंक रद्द कर 23 जून को दोबारा परीक्षा कराने की घोषणा की है। यह निर्णय सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के बाद लिया गया है।

समिति की जांच और रिपोर्ट

परीक्षा से संबंधित शिकायतों की जांच के लिए गठित समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि परीक्षा के दौरान समय की हानि के आधार पर दिए गए ग्रेस अंक से ‘विषम स्थिति’ उत्पन्न हो गई थी। समिति की सिफारिश के आधार पर एनटीए ने इन छात्रों के स्कोरकार्ड रद्द कर दिए हैं। एनटीए ने यह भी बताया कि जल्द ही इस संबंध में अधिसूचना जारी की जाएगी और जिन छात्रों को दोबारा परीक्षा का विकल्प दिया जा रहा है, उन्हें ईमेल के माध्यम से सूचना दी जाएगी।

सुप्रीम कोर्ट में केंद्र का बयान

   

गुरुवार को केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया कि उसने एमबीबीएस और अन्य पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए परीक्षा देने वाले 1563 अभ्यर्थियों को दिए गए कृपांक रद्द कर दिए हैं। केंद्र ने यह भी कहा कि इन अभ्यर्थियों को या तो दोबारा परीक्षा देने का विकल्प मिलेगा या वे नष्ट समय की क्षतिपूर्ति के लिए कृपांक छोड़ सकते हैं।

शिक्षा मंत्री का बयान

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गुरुवार को स्पष्ट किया कि एनटीए में कोई भ्रष्टाचार नहीं हुआ है। उन्होंने नीट में पेपर लीक के आरोपों को भी सिरे से नकार दिया। प्रधान ने कहा, “हम किसी छात्र का नुकसान नहीं होने देंगे और दोषियों को दंडित किया जाएगा।” उन्होंने बताया कि सभी केंद्रों पर दो पेपर सेट भेजे जाते हैं, लेकिन दुर्भाग्यवश छह केंद्रों पर गलत पेपर सेट खोल दिया गया। जब इस गलती का पता चला, तो वह सेट वापस लेकर सही पेपर दिया गया।

Leave a Comment