Bihar Weather Alert : जुलाई में ला नीना के कारण होगी मूसलाधार बारिश.

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, भारत में लाखों लोगों को चिलचिलाती गर्मी से गुजरना पड़ रहा है जबकि कृषि क्षेत्र में सिंचाई की बड़ी उम्मीदें हैं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अपने नए पूर्वानुमान में बताया है कि मॉनसून 3 जुलाई तक पूरे देश में पुनः प्रक्रिया में आ सकता है, जिससे उत्तर-पश्चिम भारत में बारिश की शुरुआत हो सकती है। इससे दिल्ली के साथ-साथ पंजाब और हरियाणा जैसे कृषि प्रमुख राज्य भी प्रभावित हो सकते हैं।

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम रविचंद्रन ने बताया कि “हमें जुलाई के पहले सप्ताह के आसपास अच्छी रिकवरी की उम्मीद है और जून से हुई कमी उस अवधि के दौरान पूरी हो जाएगी।”

अगले 3-4 दिनों में भारत में बारिश की उम्मीद है। मॉनसून के गुजरात, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, ओडिशा, गंगा के तटीय पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल के शेष हिस्सों, झारखंड के कुछ हिस्सों, बिहार के कुछ और हिस्सों और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ने की संभावना है। आईएमडी ने यह भी भविष्यवाणी की है कि 27 जून से यह उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत में जोर पकड़ेगा।

आईएमडी के पूर्वानुमान के अनुसार, “इस दौरान पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और पश्चिमी राजस्थान को छोड़कर देश के अधिकांश हिस्सों में बारिश की गतिविधि सामान्य से अधिक रहने की संभावना है।”

   

मौसम विज्ञानी एम राजीवन ने बताया कि “मॉनसून फिर से सक्रिय हो रहा है। जुलाई के पहले सप्ताह तक मॉनसून आ सकता है। हमें अगले 2-3 सप्ताह तक अच्छी बारिश की उम्मीद करनी चाहिए। सामान्य से अधिक मॉनसून वाली बारिश हो सकती है। हमें अगस्त में ला नीना के कारण सामान्य से अधिक बारिश की उम्मीद करनी चाहिए।”

आपको बताया जाए कि मॉनसून की प्रगति लगभग नौ दिनों से रुकी हुई है, लेकिन शनिवार तक मॉनसून की उत्तरी सीमा नवसारी, जलगांव, मंडला, पेंड्रा रोड, झारसुगुड़ा, बालासोर, हल्दिया, पाकुर, साहिबगंज और रक्सौल से होकर गुजरी है। आईएमडी अगले 3-4 दिनों में उत्तरी अरब सागर, गुजरात, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में मॉनसून की आगे बढ़ने की संभावना है।

Leave a Comment