Bihar Private Schools : 8 जून बाद हर दिन बिहार के प्राइवेट स्कूलों में निरीक्षण.

बिहार में गर्मी की छुट्टी के बाद अब प्राइवेट स्कूलों पर कार्रवाई शुरू होने वाली है। शिक्षा विभाग के पोर्टल पर बिना रजिस्ट्रेशन के चल रहे निजी विद्यालयों पर विभाग नकेल कसने की तैयारी में जुट गया है। गर्मी की छुट्टी खत्म होने के बाद कक्षा एक से आठ तक चलने वाले प्राइवेट स्कूलों का निरीक्षण किया जाएगा। जिन प्राइवेट स्कूलों का शिक्षा विभाग के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन नहीं होगा, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। ऐसे स्कूलों को सील भी किया जा सकता है। विद्यार्थियों के भविष्य खराब करने के आरोप में स्कूल संचालक पर प्राथमिकी भी दर्ज की जाएगी।

जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार ने बताया कि सरकारी स्कूलों की तरह अब प्राइवेट स्कूलों का भी प्रतिदिन निरीक्षण किया जाएगा। निरीक्षण कर्मियों को एक दिन में कम से कम 10 स्कूलों का निरीक्षण कर उसकी रिपोर्ट जिला शिक्षा कार्यालय को सौंपनी होगी। निरीक्षण कर्मियों को निर्देशित किया गया है कि सरकारी स्कूलों का निरीक्षण करने जाने पर अपने क्षेत्र में स्थित प्राइवेट स्कूलों की भी जांच करें और उसकी प्रतिदिन की रिपोर्ट कार्यालय को दें।

प्राइवेट स्कूलों में निरीक्षण के दौरान किन-किन मानकों की जांच करनी है, इसका फॉर्मेट जिला शिक्षा कार्यालय की ओर से तैयार कर लिया गया है। फॉर्मेट में कुल 15 कॉलम दिए गए हैं, जिन्हें भरकर उसकी रिपोर्ट प्रतिदिन निरीक्षण कर्मियों को सौंपनी होगी।

फॉर्मेट में स्कूल में आरटीई के तहत नामांकन लेने वाले बच्चों की जानकारी, यू-डायस कोड, ई-संबंधन पोर्टल पर पंजीयन, कुल शिक्षक और कर्मियों की संख्या, स्कूल की ओर से संचालित की जाने वाली वाहनों का पंजीयन, वाहन के मानक, वाहन चालक की संख्या, स्कूल परिसर का क्षेत्र, अग्नि सुरक्षा, पानी की व्यवस्था, शौचालय की व्यवस्था आदि शामिल हैं। निरीक्षण कर्मियों को इन सभी मानकों की जानकारी शिक्षा विभाग को देनी होगी।

   

Leave a Comment