Samastipur : समस्तीपुर में निर्माणाधीन नहर पर लगा रहता है उचक्कों का जमावड़ा.

समस्तीपुर जिले के ताजपुर के चकहैदर, फतेहपुरबाला दक्षिणी भाग आदि क्षेत्रों में बनाई जा रही अर्द्धनिर्मित नहर असामाजिक तत्वों का सुरक्षित अड्डा बन गई है। स्थानीय लोगों का कहना है कि पिछले सालभर से अधिक समय से नहर का काम ठप पड़ा हुआ है।

कहीं नहर की ढलाई अधूरी छोड़ दी गई है, तो कहीं नहर के दोनों किनारों पर मिट्टी के ऊंचे टीले पर जंगल झाड़ उग आए हैं। शाम ढलते ही नहर के आसपास असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगने लगता है, जिससे इलाके में शाम के बाद सुनसान हो जाता है।

ग्रामीण इस क्षेत्र में जाने से कतराते हैं, जिससे असामाजिक तत्वों को सक्रिय होने का मौका मिल जाता है। यहां तरह-तरह की संदिग्ध गतिविधियां शुरू हो जाती हैं, जिससे स्थानीय लोगों को काफी परेशानी होती है। ग्रामीणों ने शिकायत करते हुए बताया कि जब से नहर पर असामाजिक तत्वों, बदमाशों और संदिग्धों का जमावड़ा बढ़ा है, तभी से चोरी और छिनतई जैसी घटनाओं में भी वृद्धि हो गई है।

ग्रामीणों की शिकायत पर भाकपा माले के प्रखंड सचिव सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने स्थानीय प्रशासन और पुलिस अधिकारियों से गांव में दिवा और रात्रि गश्ती के दौरान नहर इलाके पर विशेष निगरानी रखने और असामाजिक तत्वों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है, ताकि ग्रामीणों को बेवजह की परेशानी से निजात मिल सके। ताजपुर थानाध्यक्ष शनि कुमार मौसम ने कहा कि इस मामले में शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

   

Leave a Comment