बिहार के लाल का भारतीय हैंडबॉल टीम में हुआ सेलेक्शन.

नवादा शहर के बड़ी दरगाह शेख टोली मोहल्ला निवासी स्वर्गीय मोहम्मद शमीम अहमद के पुत्र मो. तौसीफ रसूल का चयन भारतीय हैंडबॉल टीम में हुआ है। तौसीफ 18वीं एशियन जूनियर मेंस चैंपियनशिप के लिए भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे और जॉर्डन में होने वाली प्रतियोगिता में भाग लेंगे।

14 से 25 जुलाई तक जॉर्डन में प्रतियोगिता
यह चैंपियनशिप 14 से 25 जुलाई तक जॉर्डन में आयोजित की जाएगी। मो. तौसीफ नवादा से एकमात्र खिलाड़ी हैं जिन्होंने भारतीय टीम में जगह बनाई है। उन्होंने अपने पिता के निधन के बाद पढ़ाई के साथ-साथ खेल को भी अपना लक्ष्य बनाया।

राष्ट्रीय कोच और रेफरी संतोष कुमार वर्मा की भूमिका
तौसीफ ने नवादा के हरिशचंद्र स्टेडियम में तीन वर्षों तक लगातार प्रैक्टिस की और फिर बिहार सरकार द्वारा पटना में संचालित एकलव्य ट्रेनिंग सेंटर में चयनित हुए। इसके बाद, 2023 में भारत सरकार की खेल संस्था भारतीय खेल प्राधिकरण सेंटर में उनका चयन हुआ, जहां उन्हें मुफ्त में रहने, खाने, पढ़ाई और कोच की सुविधा मिली।

परिवार का योगदान
तौसीफ का कहना है कि उनके इस मुकाम पर पहुंचने में उनके जीजा साबिर हुसैन और बड़े भाई फैज रसूल उर्फ विक्की का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने कई कठिनाइयों का सामना किया है और अब वे अपने जिले, राज्य और देश का नाम ऊंचा करने का सपना देख रहे हैं।

   

तौसीफ की इस उपलब्धि पर पूरे नवादा में खुशी की लहर है और उनके सफलता की कहानी कई लोगों के लिए प्रेरणा बन गई है।

 

Leave a Comment