Agniveer Bharti 2024 : बिहार में अग्निवीर बनने के लिए आज से शुरू होगी दौड़.

गया में आज से सेना में भर्ती के लिए अग्निवीरों की अग्नि परीक्षा शुरू होगी। मंगलवार को बोधगया के बिहार स्पेशल आर्म्स पुलिस कैंप में पहले दिन एक हजार अभ्यर्थी दौड़ लगाएंगे। बिहार के 11 जिलों से पांच हजार अभ्यर्थी इस भर्ती प्रक्रिया में शामिल होंगे। अग्निपथ योजना के तहत उनकी शारीरिक परीक्षा होगी, जिसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। बीएसएपी कैंप के खेल मैदान में सुबह तीन बजे से सेना भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी। सबसे पहले दौड़ होगी, जिसमें पास होने वाले अभ्यर्थी लंबी कूद, जिकजैक, बीम की प्रक्रिया से गुजरेंगे। इन सभी प्रक्रियाओं को पार करने वाले अभ्यर्थियों के दस्तावेज जमा कराए जाएंगे। ये वही युवा हैं जो ज्वाइंट इंट्रेंस परीक्षा में पास हुए हैं। सोमवार शाम तक सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई थीं। सेना ने बीएसएपी खेल मैदान के अंदर और बाहर की कमान संभाल ली है। बैरिकेडिंग लगाकर मैदान के आसपास के रास्तों को बंद कर दिया गया है। सिर्फ भर्ती में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को ही आने दिया जाएगा। रात 1 बजे से अभ्यर्थियों को इंट्री शुरू हो जाएगी। सेना ने जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर तैयारियां पूरी कर ली हैं। कर्नल राहुल द्विवेदी और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने अग्निवीर भर्ती की तैयारियों का निरीक्षण कर इसे अंतिम रूप दिया। कर्नल राहुल द्विवेदी ने बताया कि 25 जून से 2 जुलाई तक फिजिकल परीक्षा की प्रक्रिया चलेगी और पूरी व्यवस्था की गई है ताकि गर्मी में अभ्यर्थियों को किसी परेशानी का सामना न करना पड़े।

सेना भर्ती निदेशक कर्नल राहुल द्विवेदी ने बताया कि 11 जिलों के अभ्यर्थी अलग-अलग तारीखों में दौड़ में भाग लेंगे। सफल अभ्यर्थी अन्य शारीरिक दक्षता परीक्षाओं में भाग लेंगे। दौड़ में सफल होने के बाद अभ्यर्थियों का मेडिकल परीक्षण होगा। हर दिन रात में ही अभ्यर्थियों का आना शुरू हो जाएगा और दौड़ में विफल रहने वाले अभ्यर्थियों को समय पर उनके गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था की जाएगी। सुरक्षात्मक दृष्टि से पर्याप्त पुलिस बल स्टेडियम के बाहर तैनात रहेगा। इस दौरान अनावश्यक नागरिकों का प्रवेश वर्जित रहेगा। अग्निवीर के लिए गया में दूसरी बार दौड़ हो रही है। कोरोना काल के बाद 2019 में यह दौड़ नहीं हुई थी, पहली बार 2023 में हो रही है।

अभ्यर्थियों को सेना भर्ती कार्यालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए आवश्यक दस्तावेजों के साथ उपस्थित होना होगा। सेना भर्ती निदेशक कर्नल राहुल द्विवेदी ने कहा कि अग्निवीर भर्ती की प्रक्रिया पूरी पारदर्शिता के साथ होगी। किसी भी युवा के साथ भेदभाव नहीं होगा। उन्होंने अग्निवीर भर्ती के लिए आने वाले युवाओं से अपील की है कि वे किसी भी तरह के बहकावे में न आएं और दलालों व भ्रामक सूचनाओं से दूर रहें। सेना भर्ती कार्यालय के निर्देशों का पालन करें।

बीएसएपी के खेल मैदान में बने सिंथेटिक ट्रैक पर युवा 1600 मीटर की दौड़ लगाएंगे, जो चार राउंड में पूरी होगी। दौड़ में पास होने वाले अभ्यर्थियों को अन्य प्रक्रियाओं से गुजरना होगा। अभ्यर्थियों को किसी तरह की दिक्कत न हो, इसके लिए पुलिस ने रेलवे स्टेशन और बस अड्डों पर भी सुरक्षा के खास इंतजाम किए हैं। बीएसएपी भर्ती केंद्र से रेलवे स्टेशन 10 किलोमीटर की दूरी पर है। अभ्यर्थी रेलवे स्टेशन व ऑटो या बसों के माध्यम से पहुंच सकेंगे। यह भर्ती अरवल, औरंगाबाद, गया, जमुई, जहानाबाद, कैमूर, शेखपुरा, लखीसराय, रोहतास, नवादा और नालंदा के अभ्यर्थियों के लिए आयोजित की जा रही है।

   

Leave a Comment