Bihar Government School : बिहार के सर्वश्रेष्ठ शिक्षक और प्रधानाध्यापकों को मिलेगा पुरस्कार, शिक्षा मंत्री ने की घोषणा.

राज्य के विभिन्न स्कूलों में कार्यरत सर्वश्रेष्ठ शिक्षक और प्रधानाध्यापकों को पुरस्कृत किया जाएगा। इस संबंध में एक चयन प्रक्रिया निर्धारित की जाएगी। शिक्षा मंत्री सुनील कुमार ने विभाग के आलाधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई करते हुए एक व्यवस्था बनाने का निर्देश दिया है।

शिक्षा मंत्री की बैठक और निर्देश

शिक्षा मंत्री ने विभागीय पदाधिकारियों के साथ बैठक कर विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों की समीक्षा की। मंत्री ने शिक्षण संस्थानों की आधारभूत संरचना और स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना को सबसे अधिक प्राथमिकता देने का निर्देश दिया है ताकि इस योजना का पूरा लाभ विद्यार्थियों को मिल सके। उन्होंने कहा कि शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए जो भी संसाधन चाहिए, राज्य सरकार उन्हें प्रदान करेगी।

स्कूलों की सूची और आधारभूत संरचना का विकास

   

मंत्री ने पदाधिकारियों को यह निर्देश भी दिया है कि विधायकों और विधान पार्षदों से पांच-पांच स्कूलों की सूची प्राप्त करें। इसके बाद इन स्कूलों में आधारभूत संरचना समेत अन्य आवश्यक कार्य प्राथमिकता के आधार पर कराए जाएं।

उच्च शिक्षा के सत्र में सुधार की आवश्यकता

शिक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि स्कूल स्तर पर परीक्षाएं समय पर हो रही हैं, लेकिन उच्च शिक्षा के सत्र अत्यधिक विलंब से चल रहे हैं। विश्वविद्यालयों को इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने विश्वविद्यालयों से आग्रह किया कि वे राज्य की अर्थव्यवस्था और समाज के प्रति शोध के माध्यम से आवश्यक योगदान दें। अन्यथा बिना शोध और उसके प्रकाशन के विश्वविद्यालयों को खास महत्व नहीं रह जाएगा।

शिक्षा में गुणात्मक सुधार की पहल

शिक्षा मंत्री की इस पहल का उद्देश्य राज्य में शिक्षा के स्तर को सुधारना और शिक्षकों व प्रधानाध्यापकों को उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए प्रोत्साहित करना है। इसके साथ ही, शिक्षण संस्थानों की आधारभूत संरचना में सुधार कर विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा का वातावरण प्रदान करना है। शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए राज्य सरकार हर संभव कदम उठाने के लिए प्रतिबद्ध है।

Leave a Comment