समस्तीपुर में 15 लाख दहेज नहीं मिलने पर दारोगा ने पत्नी को घर से निकाला. | Samastipur News

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) बीते दिनों प्रदेश के विभिन्न जिलों में घूम-घूमकर समाज सुधार अभियान चला रहे थे. इस दौरान वे दहेज नहीं लेने व शराब नहीं पीने की जनता से अपील कर रहे थे.

 

वहीं, इस बाबत वे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों सहित कर्मियों को शपथ भी दिलवा रहे थे. लेकिन शपथ का कर्मियों पर असर नहीं दिख रहा. प्रदेश के समस्तीपुर जिले में बिहार पुलिस के दारोगा के खिलाफ उसकी ही पत्नी ने सिविल कोर्ट दलसिंहसराय के अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी तृतीय के न्यायालय में विविध वाद संख्या 31/21 दाखिल किया है.

साल 2019 में हुई थी शादी :

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला के विद्यापतिनगर थानांतर्गत एक गांव की रहने वाली पीड़ित लड़की ने कोर्ट में दायर अपने मुकदमा में बताया है कि उसकी शादी 2019 में उजियारपुर थाना क्षेत्र के लखुआ पतैली गांव निवासी स्व. राम स्वार्थ चौरसिया के बेटे बिट्टू कुमार कमल के साथ हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार हई थी. शादी के समय बिट्टू रेलवे ग्रुप डी में पदस्थापित था.

 

शादी के बाद उसके पति बिट्टू कुमार कमल का सलेक्शन बिहार पुलिस के दारोगा में हुआ. इसके बाद वो दहेज में 15 लाख रुपए की मांग करने लगे. इन्कार करने पर उसे शारीरिक, आर्थिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करने लगे. पीड़िता का आरोप है कि दारोगा ने उसे जबरन गर्भनिरोधक दवा खिलाई. साथ ही दूसरी शादी करने की धमकी भी दी. वहीं मारपीट कर घर से निकाल लिया.

 

पहले भी की थी शिकायत :

बताते चलें कि पीड़िता ने पूर्व में भी अपने पति, सास सुनीता देवी व देवर बबलू कुमार पर दहेज नहीं देने पर शारीरिक, मानसिक, आर्थिक रूप से प्रताड़ित का आरोप लगाते हुए विद्यापतिनगर थाना कांड संख्या 10/2019 व महिला थाना कांड संख्या 90/21 दर्ज कराने की बात अंकित कराई है.

Leave a Reply