समस्तीपुर में अवैध नर्सिंग होम पर स्वास्थ्य विभाग का छापा, मचा हड़कंप. | Samastipur News

समस्तीपुर, 12 जनवरी, 2021 | अफ़रोज़ आलम / पी कुमार

 

समस्तीपुर जिले के ताजपुर प्रखंड क्षेत्र के दर्जनों अवैध नर्सिंग होम पर अचानक स्वास्थ्य विभाग का छापा पड़ा, अचानक छापेमारी से अवैध नर्सिंग होम संचालको के बीच हड़कंप मच गया।

 

बताते चलें कि पटना उच्च न्यायालय के वाद संख्या CWJC NO.2044/2014 एवं CWJC.NO.19175/2015 मे पारित आदेश के आलोक में जिला चिकित्सा पदाधिकारी के आदेशानुसार पीएचसी प्रभारी डा० सोनेलाल राय एवं हेल्थ मैनेजर डा० अंजनी नन्दन झा के नेतृत्व में ताजपुर क्षेत्र के दर्जनों नर्सिंग होम में छापामारी कर डॉक्टर की उपस्थिति, निबंधन कागजात और मानक की जांच की गयी।

 

जानकारी देते हुए पीएचसी प्रभारी डा०सोनेलाल राय ने बताया कि ताजपुर क्षेत्र मे तकरीबन तीन दर्जन नर्सिंग होम अवैध रूप से चल रहा है, जिसमे से लगभग दर्जन भर नर्सिंग होम का जांच किया गया,जाँच के क्रम मे धर्मवीर सेवा सदन, श्रुति नर्सिंग होम, ललिता क्लिनिक व नर्सिंग होम, सहारा नर्सिंग होम, रामदुलारी नर्सिंग होम, ममता नर्सिंग होम, कृष्णा नर्सिंग होम, भारत नर्सिंग होम सहित अन्य शामिल है।

जाँच मे अधिकांश नर्सिंग होम व क्लिनिक बिना डॉक्टर, रजिस्ट्रेशन व मानक के अनुरूप नही चलाये जाते हुऐ पाये गये। वही प्रभारी ने बताया की जो भी मानक के अनुरूप नहीं है, उसपर कडी से कडी कारवाई कर उसे सील किया जाएगा वही अभी क्षेत्र मे लगातार छापेमारी जारी रहेगी। विदित हो कि इन दिनो ताजपुर नगर परिषद क्षेत्र व आसपास के ग्रामीण इलाको मे कुकुरमुते की तरह नर्सिग होम व क्लिनिक खुले हुऐ है।

 

सुत्रो के अनुसार ऐसे नर्सिग होम पर क्षोलाछाप डाक्टर के द्वारा कई तरह के आपरेशन, व सिजेरियन आदि भी कराया जाता है, वही आये दिन इन अवैध नर्सिग होम पर कई मरीजो की मौत भी हो चूकी है। ऐसे अवैध नर्सिंग होम संचालकों के द्वारा दलालो और बिचौलियो को मोटी रकम दी जाती है। जिससे बिचौलिये मरीज के परिजनो को गुमराह कर मरीज को भर्ती करा देते है, और ऐसे अवैध संचालक सामान्य मरीज के परिजन से भी मोटी रकम वसूल कर मरीज के परिजनों का आर्थिक व मानसिक दोहन करते है।

Leave a Reply