समस्तीपुर के सातनपुर में वाटर पार्क तो ताजपुर में बन रही सीमेंट फैक्ट्री. | Samastipur News

समस्तीपुर में विधानसभा चुनाव के दौरान एनडीए ने राज्य के 19 लाख युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था। राज्य सरकार अब इसके लिए प्रयासरत है। रोजी-रोजगार पर भी ध्यान दे रही है। युवाओं के साथ-साथ महिलाओं को भी उद्यमी बनाने का प्रयास शुरू कर दिया गया है।

 

जीविका के माध्यम से महिलाओं को सशक्त किया जा रहा है। वहीं जिले के प्रत्येक पंचायतों में पांच-पांच अनुसूचित जाति एवं अति पिछड़ी जाति के युवाओं को मुख्यमंत्री परिवहन योजना के तहत लाख रुपये तक की मदद की। इस कारण हर पंचायत में करीब चार से पांच युवा ऑटो, एम्बुलेंस, कार आदि खरीदकर इस योजना का लाभ चुके हैं।

इससे जहां लाभुक युवाओं को रोजगार का साधन मिला। वहीं दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्र में भी परिवहन सेवा उपलब्ध हो सकी। अब सरकार जिले के 874 युवाओं को दस-दस लाख रुपये की मदद कर लघु उद्योग खुलवाने जा रही है। पिछले दिनों जिले के 674 युवाओं का चयन युवा उद्यमी योजना के तहत उद्योग विभाग ने किया है। जबकि पहले से 200 अनुसूचित जाति के युवाओं का चयन इस योजना के तहत किया जा चुका है।

 

इन सभी चयनित युवाओं को इस साल राशि देकर उद्योग शुरू कराने की योजना है। इससे करीब तीन हजार युवाओं को रोजगार मिल जाएगा। इस सबसे इतर ताजपुर में ड्यूरा टेक कंपनी की सीमेंट फैक्ट्री इसी साल से शुरू हो जाएगी। तेजी से निर्माण कार्य चल रहा है। इसके चालू होने से करीब चार हजार युवाओं को रोजगार मिलेगा। ताजपुर में इथेनाल की भी फैक्ट्री इसी साल से शुरू होने की संभावना जतायी जा रही है।

 

इससे भी रोजगार के अवसर मिलेंगे। सातनपुर के बहिरा चौर में वाटर पार्क की स्वीकृति मिल चुकी है। इस साल यह वाटर पार्क भी शुरू हो जाएगा। पूर्ववर्ती सरकार ने दो राइस मिल की स्वीकृति दी थी, जो चालू हो गया। दो और राइस मिल की स्वीकृति मिल गई है, जो इस साल चालू होगा। एक राइस मिल के निर्माण पर करीब आठ से दस करोड़ रुपये खर्च आते हैं। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि इस साल युवाओं के लिए रोजगार मुहैया कराने वाला यह वर्ष रहेगा।

यह साल जिले के युवाओं के लिए बेहतर रहने वाला है। इस साल कई नए प्रोजेक्ट शुरू हो रहे हैं, जिससे युवाओं को रोजगार मिलेगा। चयनित युवाओं को भी सरकार की ओर से दस-दस लाख की मदद मिलेगी, जिससे वे अपना लघु उद्योग लगा सकेंगे। एक वाटर पार्क पहले ही मुसरीघरारी में स्वीकृत किया जा चुका है जबकि दूसरा वाटर पार्क सातनपुर में बनेगा।
– विमल कुमार मल्लिक, उद्योग विभाग के महाप्रबंधक.

Leave a Reply