अमेरिका से समस्तीपुर सदर अस्पताल पहुंची टीम मिला कार्टन में बंद मिला अल्ट्रासाउंड मशीन. Samastipur News

समस्तीपुर जिला तथा इसके पास रहने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है कि सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड को विश्व स्तरीय स्वरूप देने की योजना बनाई है। अमेरिका के हावर्ड विश्वविद्यालय के दो सदस्यीय टीम ने सोमवार को सदर अस्पताल में चिकित्सा व्यवस्था का अध्ययन किया। हावर्ड विश्वविद्यालय के डा.ओबरी और नर्स केटी ने आकस्मिक वार्ड, लेबर रूम, आपरेशन थियेटर, ब्लड बैंक, डायलिसिस, इंडोर, लेबर रूम, लेबर ओटी का जायजा किया। ओपीडी में निरीक्षण के दौरान अल्ट्रासाउंड कक्ष में अल्ट्रासाउंड मशीन कार्टन में बंद मिला।

 

केयर इंडिया काफी समय से सदर अस्पताल में मेडिकल सुविधाओं की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए प्रयासरत है और अपनी सेवा दे रहा है। केयर इंडिया की ओर से उपरोक्त दोनों विशेषज्ञ हार्वर्ड विश्वविद्यालय से समस्तीपुर पहुंची। वे यहां सभी तरह के मरीजों को दी जाने वाली सुविधाओं का अध्ययन किया। इसे बेहतर बनाने की दिशा में चिकित्सक व नर्सिंग कर्मियों को 20 दिनों तक प्रशिक्षण देंगी। भ्रमण के दौरान उन्होंने सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड, इमरजेंसी ओटी एवं डाक्टर चैंबर का भी जायजा लिया।

इसके साथ ही उन्होंने इमरजेंसी वार्ड में मौजूद कई सुविधाओं के बिदुओं पर भी चर्चा की। अस्पताल प्रबंधक डा. विश्वजीत रामानंद ने बताया अमेरिकी टीम ने इमरजेंसी वार्ड को और मजबूत बनाने को लेकर कई योजनाएं बनाई। अब सदर अस्पताल को विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानक के अनुरूप तैयार किया जाएगा। अस्पताल में पहले से कई अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध है। मरीजों के बेहतर सेवा उपलब्ध कराने को लेकर विभाग प्रतिबद्ध है। मौके पर डा. अतुल, उपाधीक्षक डा. गिरिश कुमार, डा. नागमणि राज, केयर इंडिया के डीटीएल डा. प्रशांत इसवल, डा. राधिका राजपंडित, धर्मेन्द्र कुमार आदि उपस्थित रहे।

इमरजेंसी सेवाओं को किया जाएगा बेहतर:

सदर अस्पताल के इमरजेंसी सेवाओं को सु²ढ़ करने के लिए टीम ने आवश्यक सुझाव दिए। टीम ने कहा कि इमरजेंसी वार्ड में आने वाले मरीजों का उपचार शीघ्र कराना सुनिश्चित करें। मरीज के उपचार में किसी तरह की लापरवाही या देरी नहीं करें। मरीजों को बेहतर सुविधा मिलना चाहिए। हर बेड पर चादर की सुविधा हो यह सुनिश्चित किया जाए। इसके साथ आवश्यक दवा, उपकरण की व्यवस्था भी सुनिश्चित किया जाए।

अस्पताल में 24 घंटे मिलेगी पैथोलॉजी की सुविधा अब मरीजों को 24 घंटे पैथोलॉजी जांच की सुविधा मिलेगी। इसको लेकर व्यापक स्तर पर कार्य किया जा रहा है। जल्द मरीजों को यह सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इससे गरीब और आर्थिक रूप से कमजोर मरीजों को काफी सहूलियत होगी। प्राइवेट जांच घरों में जाने से मुक्ति मिल सकेगी।सदर अस्पताल में साफ-सफाई, चिकित्सकों का ड्रेस कोड तथा उपकरणों का रख-रखाव पर भी ध्यान देने की जरूरत है।

Leave a Reply