आज कैसा रहेगा समस्तीपुर का मौसम ? Samastipur Weather Update

Samastipur Weather Update: बिहार में आज भी मौसम के ट्रेंड में बदलाव के संकेत नहीं है। तात्पर्य यह कि आज भी पूरे दिन आसमान बादलों से ढंका रहेगा। एक-दो जगहों पर गरज के साथ बूंदाबांदी हो सकती है, लेकिन तेज बारिश की संभावना नहीं है। हवा की दिशा में कोई खास बदलाव के संकेत नहीं हैं। अधिकतम तापमान में भी कमी हुई है। यह कम हाेकर 33 डिग्री के आसपास रहने का अनुमान है। इसकी वजह से लोगों को गर्मी से राहत मिल रही है। अभी यह सिलसिला जारी रहनेवाला है। रात के समय भी बहुत अधिक बदलाव की संभावना नहीं के बराबर है। लगातार बादल व बूंदाबांदी का प्रभाव यह हुआ है कि आर्द्रता खतरनाक स्तर के आसपास पहुंच गया है।

दरभंगा और समस्तीपुर में भी खास बदलाव नहीं:

दरभंगा की बात करें तो यहां का मौसम भी मुजफ्फरपुर के जैसा ही रहने का अनुमान विभाग व एक्यूवेदर की ओर से व्यक्त किया गया है। दिन के समय पूर्व दक्षिण व पूर्व दिशा से हवा चलती रहेगी। बावजूद एक-दो जगहों पर बूंदाबांदी से अधिक बारिश की संभावना नहीं है। पूरे दिन अधिकांश आसमान बादलों से ही ढंका रहेगा। गर्मी से राहत मिलती रहेगी। जहां तक समस्तीपुर का प्रश्न है तो यहां भी कुछ खास बदलाव के संकेत नहीं हैं। यहां भी मुजफ्फरपुर और दरभंगा जैसा ही ट्रेंड रहने का अनुमान है।

पुरवा हवा चलने का अनुमान:

डा. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के मौसम विभाग के नोडल पदाधिकारी डा. ए सत्तार ने बताया कि अगले तीन दिनों तक उत्तर बिहार के जिलों में अनेक स्थानों पर हल्की वर्षा हो सकती है। कुछ स्थानों पर मध्यम वर्षा भी होने का अनुमान है। इस अवधि में अधिकतम तापमान 33 से 34 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है। जबकि न्यूनतम तापमान 23 से 26 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रह सकता है। सापेक्ष आद्र्रता सुबह में 75 से 80 प्रतिशत तथा दोपहर में 45 से 55 प्रतिशत रहने की संभावना है। पूर्वानुमानित अवधि में औसतन 12 से 17 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पुरवा हवा चलने का अनुमान है।

किसानों के लिए सुझाव:

किसानों के लिए जारी समसामयिक सुझाव में कहा गया है कि पिछले एक-दो दिनों में उत्तर बिहार में अच्छी वर्षा हुई है। मौसम पूर्वानुमान की अवधि में वर्षा की संभावना को देखते हुए किसान धान की रोपाई प्राथमिकता के आधार पर करें। कदवा के समय 30 किलोग्राम नेत्रजन, 60 किलोग्राम स्फूर एवं 30 किलोग्राम पोटाश के साथ 25 किलोगाम ङ्क्षजक सल्फेट या 15 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर ङ्क्षजक का व्यवहार करें।

Leave a Reply