समस्तीपुर सदर अस्पताल में मोतियाबिंद ऑपरेशन फिर से शुरू. | Samastipur Sadar Aspataal

समस्तीपुर सदर अस्पताल में लगभग एक महीने के बाद फिर से नि:शुल्क मोतियाबिंद ऑपरेशन शुरु कर दिया गया। इस कड़ी में मंगलवार को निबंधति 18 मरीजों में से 16 मरीजों के आंख का मोतियाबिंद ऑपरेशन नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. पवन कुमार के द्वारा किया गया।

 

जबकि दो मरीज ऑपरेशन में नहीं पहुंच सके। सोमवार को इन मरीजों की जांच पड़ताल के बाद 18 मरीजों को ऑपरेशन के लिए मंगलवार को बुलाया गया था। इसमें सोमवार की शाम तक 16 मरीज पहुंचे, जिसे जांच पड़ताल के बाद भर्ती कर लिया गया। मंगलवार को फिर से उनकी बारी-बारी से जांच करने के बाद ऑपरेशन किया गया।

ऑपरेशन के बाद सभी मरीजों को वार्ड में भर्ती कर दिया गया। विदित हो कि पिछले एक महीने से ऑपरेशन बंद रहने के कारण लगभग सौ मरीज मोतियाबिंद ऑपरेशन के लिए निबंधन करा चुके हैं। नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. पवन कुमार ने बतया कि सभी मापदंड को पूरा करने के बाद ही मरीजों का ऑपरेशन किया जाता है। निबंधन के दौरान उनकी जांच की जाती है। फिर संबंधित जांच भी लैब से कराया जाता है। इसके बाद ऑपरेशन के लिए समय दिया जाता है।

 

गाउन के साथ ही दिया गया मास्क:

कोरोना संक्रमण एवं आंख का संक्रमण को देखते हुए सदर अस्पताल में प्रत्येक मरीजों को ऑपरेशन से पूर्व अस्पताल प्रशासन के द्वारा गाउन पहनाया गया। फिर उन्हें मास्क पहनाकर हाथों की भी सफाई कर सेनिटाइज किया गया। इसके बाद बारी-बारी से 16 मरीजों का मोतियाबिंद ऑपरेशन किया गया। बतादें कि समस्तीपुर में अंधापन नियंत्रण कार्यक्रम के तहत भी आंख का नि:शुल्क जांच व ऑपरेशन किया जाता है।

 

मुजफ्फरपुर कांड के बाद लगा ब्रेक:

मुजफ्फरपुर में मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद कई मरीजों की आंख में संक्रमण फैलने एवं आंख की रोशनी जाने के बाद सदर अस्पताल में भी एहतियात के तौर पर मोतियाबिंद ऑपरेशन पर रोक लगा दी गयी। फिर सीएस डॉ. सत्येंद्र कुमार गुप्ता के आदेश पर सदर अस्पताल के आंख ओटी एवं वार्ड का स्वाब व कल्चर जांच कराया गया। जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद पहली बार मंगलवार को 16 मरीजों का ऑपरेशन किया गया है।

Leave a Reply