अब और अत्याधुनिक सुविधा से लैस होगी समस्तीपुर रेलवे स्टेशन. | Samastipur Railway Junction

अत्याधुनिक सुविधा की कड़ी में अब समस्तीपुर स्टेशन पर एक और नयी सुविधा बहाल की जाएगी। पानी की बर्वादी रोकने एवं कम समय में अधिक से अधिक कोचों में पानी भ्भरने के लिए क्विक वाटरिंग सिस्टम बहाल किया जाएगा। ताकि समस्तीपुर स्टेशन से गुजरने वाली किसी भी ट्रेन में जरुरत के हिसाब से तत्काल पानी मुहैया करायी जा सके। 

 

समस्तीपुर स्टेशन पर क्विक वाटरिंग सिस्टम बहाल करने के लिए मुख्यालय भी प्रस्ताव भेजा गया है। डीआरएम आलोक अग्रवाल ने बताया कि समस्तीपुर में क्विक वाटरिंग सिस्टम लागू किया जाएगा। इसके लिए रेल मुख्यालय को प्रस्ताव भेजा गया है। मुख्यालय से मंजूरी मिलने के बाद इसकी प्रक्रिया शुरु कर दी जाएगी। अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग करने एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए यह सुविधा बहाल की जा रही है। इसी कड़ी में अब ट्रेन के कोचों में पानी भरने के निण् त्वरित जल प्रणाली (क्विक वाटरिंग सिस्टम) का उपयोग किया जा रहा है।

 

पानी की बर्वादी रुकेगी:

समस्तीपुर स्टेशन पर फिलहाल सामान्य पाइप से ही ट्रेन के कोच में पानी भरा जाता है। इस प्रणाली के उपयोग से न केवल पानी की बर्वादी पर नियंत्रण किया जा सकेगा बल्कि काफी कम समय में ट्रेन के कोचों में पानी भरा जा सकेगा। मात्र दस मिनट में 24 से 26 कोच में पानी भरा जा सकेगा। इस तरह पानी की बर्बादी पर रोक लगने से जल संरक्षण के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण में महत्वपूर्ण योगदान दिया जा सकेगा।

 

मोबाइल एप से भी होगा कंट्रोल:

त्वरित जल प्रणाली में तीन उच्च दबाव वाले पंप शामिल होता है, जो प्लेटफॉर्म पर हाइड्रेंट को पानी की आपूर्ति करता है। इस संयंत्र के संचालन के लिए इसमें अग्रिम स्वचालन और नियंत्रण प्रणाली भी है, जिसमें पंपों की क्रमिक शुरूआत के साथ-साथ प्रत्येक पंप के लिए परिवर्तनशील गति नियंत्रण शामिल होगा। इस सिस्टम का कंट्रोल रिमोट ऑपरेशन के लिए मोबाइल एप पर भी उपलब्ध है।