समस्तीपुर जंक्शन पर शव की बदबू से यात्री व कर्मी परेशान. Samastipur Railway Junction

Samastipur Railway Junction: समस्तीपुर जंक्शन पर खुले में अज्ञात शव को रखने के कारण बदबू फैलने से यात्रियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। इसके साथ ही ड्यूटी पर आने वाले रेल कर्मियों को भी परेशानी हो रही है। अज्ञात शव को पहचान के लिए 72 घंटा तक रखने वाला फ्रीज खराब है। इस समस्या की वजह से आसपास का वातावरण दूषित हो रहा है।

ऐसा नहीं है कि इस समस्या से अधिकारी अनजान हो, लेकिन कोई सुधि नहीं ले रहा है। उन्हें इस बात की चिता नहीं है कि गर्मी में शव को रखने के लिए फ्रिज की सबसे अधिक जरूरत पड़ती है। जानकारी के अनुसार राजकीय रेल पुलिस थाना अंतर्गत हमेशा शव का आना जाना लगा रहता है। कई बार शवों की संख्या बढ़ जाती है। इस समय गर्मी इतनी हो रही है कि शव कुछ ही घंटों में खराब होने की संभावना बन जाती है।

काफी दिनों से फ्रीज खराब होने के कारण शवों को कमरे में ही रखा जा रहा है। फ्रीज खराब होने से आलम यह बना हुआ है कि शव रखने वाले जगह के आसपास का वातावरण दूषित हो रहा है। आने-जाने वाले लोग मुंह पर हाथ और रुमाल रखने को मजबूर हो रहे हैं। पार्सल कार्यालय में मुंह पर रुमाल रखकर कर्मी ड्यूटी कर रहे है। अत्यधिक बदबू की वजह से कुछ महिला यात्रियों की तबीयत भी बिगड़ गई।

अंगारघाट में ट्रेन से गिरने से हुई थी मौत: Samastipur Railway Junction

जंक्शन के प्लेटफार्म संख्या एक के समीप रेलवे न्यायालय के सामने अज्ञात शव रखने का स्थान निर्धारित है। जहां पर रेल पुल के नीचे एक कक्ष बनाकर शव रखने का स्थान निर्धारित किया गया था। विदित हो कि गुरुवार को समस्तीपुर-खगड़िया रेलखंड के अंगारघाट स्टेशन के समीप अज्ञात ट्रेन से गिरकर एक अधेड़ की मौत हो गई थी। शव की पहचान नहीं होने के कारण रेल पुलिस द्वारा शव का पोस्टमार्टम कराने के उपरांत शव को सुरक्षित रखा गया है, लेकिन फ्रीज खराब होने की वजह से शव को खुले में रखा गया है। इस वजह से शव से बदबू निकल रही है। स्टेशन परिसर में यात्रियों के साथ-साथ पुलिस अधिकारी व जवानों को अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Leave a Reply