समस्तीपुर में रेलवे कालोनी की हालत बदतर, अचानक भरभरा कर गिरी छत. Samastipur Railway Colony

Samastipur Railway Colony: समस्तीपुर शहर में रेलवे कालोनियों के जर्जर आवास जानलेवा हो चुके हैं। स्थानीय गंडक रेलवे कालोनी में सोमवार की देर शाम उस समय हड़कंप मच गया, जब रेलवे के कैरेज एंड वैगन विभाग में कार्यरत एक कर्मी संजय सहनी के सरकारी आवास 668 सी की छत धाराशायी हो गई।

छत का काफी हिस्सा गैलरी में गिरा था, यदि कोई वहां खड़ा रहता तो, बड़ी अनहोनी हो सकती थी। छत का बड़ा हिस्सा गैलरी और छज्जा को तोड़ते हुए नीचे जमीन पर गिरा। वहां पर एक वाहन भी लगा हुआ था। यह तो महज एक संयोग ही था कि उस समय वहां पर कोई नहीं था। इसलिए बड़ा हादसा होने से बच गया।

घटना की सूचना मिलते हीं कॉलोनी के दर्जनों परिवार के लोग उक्त स्थान पर जमा हो गये। सभी ने अपने-अपने भवनों की दशा का जिक्र करते हुए विभागीय अधिकारियों को कोसना शुरू कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही ईस्ट सेंट्रल रेलवे कर्मचारी यूनियन के मंडल मंत्री केके मिश्रा, मुख्यालय शाखा अध्यक्ष मनोज कुमार, शाखा उपाध्यक्ष अजय यादव, सूर्यभूषण मिश्रा, विनोद कुमार राय सहित अन्य मौके पर पहुंच कर घटना के बारे में जानकारी ली।

बताया गया है कि मंडल मुख्यालय के विभिन्न महकमा के अलग-अलग विभागों में कार्यरत कर्मियों के परिवार वालों की जान पर आफत है। ऐसा भी नहीं कि रेल महकमा इससे अनजान है। परंतु इस दिशा में विभागीय अधिकारियों द्वारा आवश्यक पहल नहीं की जा रही है।

रेलवे कालोनियों की स्थित बदतर :

रेलवे कालोनियों की खिड़कियों से दरवाजे गायब हैं, दीवालों से प्लास्टर उखड़ गया है। छज्जे ऐसे कि कब टपक जाएं कोई ठिकाना नहीं। लंबे समय से मरम्मत न होने के कारण रेल कर्मचारी खिड़कियों और दरवाजों पर पर्दा लगाकर काम चला रहे हैं।

Leave a Reply