Samastipur Rail News : स्टीम इंजन चोरी मामले में समस्तीपुर शहर का स्क्रैप ठेकेदार, मुंशी और ट्रक ड्राइवर गिरफ्तार.

समस्तीपुर रेल मंडल के पूर्णिया कोर्ट स्टेशन के समीप से स्टीम इंजन स्क्रैप गबन मामले में आरपीएफ ने बड़ी सफलता हासिल की है। इसमें समस्तीपुर रेल मंडल के स्क्रैप ठेकेदार नीरज ढनढानियां, मुंशी राम पदार्थ शर्मा और ट्रक ड्राइवर शिशुपाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया। सभी से आरपीएफ टीम लगातार पूछताछ कर रही है। आरपीएफ पूरे मामले का पर्दाफाश करने के लिए छापेमारी अभियान चला रही थी।

समस्तीपुर में स्क्रैप बेचने के सुराग मिलने पर आरपीएफ की टीम ने शहर के कई कबाड़ी गोदाम और दुकानों में छापेमारी की। इस दौरान शहर के कबाड़ व्यवसायी, उसके मुंशी एवं ट्रक मालिक सह चालक को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी के बाद यह स्पष्ट हो गया कि पूर्णिया कोर्ट से उठाए गए स्क्रैप को समस्तीपुर के व्यवसायी के हाथों बेचा गया। हालांकि स्टीम इंजन का स्क्रैप अभी बरामद नहीं हो पाया है।

आरपीएफ के मंडल सुरक्षा आयुक्त एके लाल ने बताया कि तीन लोगों को फिलहाल गिरफ्तार किया गया है। इसमें समस्तीपुर शहर के कबाड़ी व्यवसायी नीरज ढनढानियां एवं उसके मुंशी राम पदारर्थ शर्मा को आरपीएफ टीम ने गिरफ्तार कर लिया। कमांडेंट ने बताया कि पूर्णिया से उठाए गए स्क्रैप को इसी व्यवसायी के द्वारा खरीदा गया। पूछताछ में व्यवसायी ने कबूल किया है। अभी स्क्रैप बरामद नहीं हो पाया है।

 

एसएसई समेत सात के खिलाफ दर्ज की गई प्राथमिकी :

समस्तीपुर रेल मंडल के पूर्णिया कोर्ट स्टेशन के समीप वर्षों से खड़ी स्टीम इंजन के स्क्रैप को सीनियर सेक्शन इंजीनियर ने स्क्रैप माफिया से बेच दिया। इसमें आरपीएफ दारोगा की मिलीभगत भी उजागर हुई है। पूरे मामले का खुलासा होने के बाद रेल महकमा में हड़कंप मच गया था। लोको डीजल शेड के डिवीजनल मैकेनिकल इंजीनियर (डीएमई) का फर्जी कार्यालय आदेश दिखाकर पूर्णिया कोर्ट स्टेशन के समीप वर्षों से खड़ी छोटी लाइन का पुराना वाष्प इंजन (स्टीम इंजन) स्क्रैप माफिया से बेच दिया गया।

 

पूरे मामले का खुलासा नहीं हो इसके लिए डीजल शेड पोस्ट पर कार्यरत आरपीएफ दारोगा की मिलीभगत से शेड के आवक रजिस्टर पर एक पिकअप वैन के स्क्रैप के अंदर प्रवेश करने संबंधी इंट्री भी करवा दी, लेकिन ऑन ड्यूटी सिपाही संगीता कुमारी ने इसकी शिकायत कर दी। जिसके बाद पूरे मामले का जांच कराने के बाद इंजन बेचने का खुलासा हो गया। पूर्णिया कोर्ट स्टेशन के आरपीएफ दारोगा एमएम रहमान के बयान पर मंडल के बनमनकी पोस्ट पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें रेलवे इंजीनियर राजीव रंजन झा, हेल्पर सुशील यादव समेत सात लोगों को आरोपी बनाया गया है।

महिला सिपाही ने स्क्रैप नहीं पहुंचने पर की शिकायत :

14 दिसंबर 2021 को समस्तीपुर डीजल शेड के इंजीनियर राजीव रंजन झा, हेल्पर सुशील यादव के साथ पूर्णिया कोर्ट स्टेशन के पास वर्षों से खड़ी पुराने स्टीम इंजन को गैस कटर से कटवा कर समस्तीपुर लोको शेड में भेजना था। पूर्णिया आउट पोस्ट प्रभारी एमएम रहमान ने रोका तो इंजीनियर ने डीजल शेड के डीएमई का पत्र दिखाते हुए आरपीएफ को लिखित रूप से मेमो दिया कि इंजन का स्क्रैप वापस डीजल शेड ले जाना है। अगले दिन सिपाही संगीता ने स्क्रैप लोड ट्रक के प्रवेश की इंट्री देखी, लेकिन स्क्रैप नहीं पहुंचने पर संगीता ने इसकी जानकारी अधिकारियों को दी। जिसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ था।

Leave a Reply