समस्‍तीपुर में आय से संपत्ति को लेकर रेलवे के सेवानिवृत्त अधिकारी पर कार्रवाई, ईडी ने जब्त की जमीन. Samastipur Rail News

Samastipur Rail News: समस्तीपुर में आय से अधिक संपत्ति के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अवकाश प्राप्त रेलवे अधिकारी की लाखों की जमीन को कब्जे में ले लिया। जमालपुर के सीनियर सेक्शन इंजीनियर चंदेश्वर प्रसाद यादव के धमौन स्थित 46.5 डिसमिल की जमीन पर कब्जा शुक्रवार को ईडी की टीम ने कर लिया। इस अवैध संपत्ति को जब्त कर लेने के बाद ईडी की टीम ने बताया कि 3 करोड़ 44 लाख की आय से अधिक अवैध संपत्ति का मामला है। सेवानिवृत रेल अधिकारी स्क्रैप चोरी तथा उसके घोटाले में फिलहाल हिरासत में है। शुक्रवार की दोपहर ईडी की टीम पटोरी पहुंची और स्थानीय प्रशासन की मदद से धमौन स्थित उसके 46.5 डिसमिल जमीन को जब्त कर लिया। यह जमीन उसने अपनी पत्नी उर्मिला देवी के नाम से खरीद रखी थी।

फिलहाल चंदेश्वर प्रसाद यादव बेउर जेल में बंद है और उसके पांच ठिकानों पर छापेमारी कर उसकी संपत्ति को जब्त कर लिया गया है। ईडी की टीम में असिस्टेंट डायरेक्टर प्रवीण कुमार झा, प्रवर्तन अधिकारी सुधांशु सिंह, बलवीर गुप्ता के साथ पटोरी के सीओ विकास कुमार सिंह, सीआई रामसेवक पासवान, अमीन संजय कुमार राय तथा दारोगा संतोष कुमार भी अन्य पुलिस बल के साथ स्थल पर पहुंचे। ईडी की टीम ने उक्त भूमि पर अपना बोर्ड लगा कर उसे कब्जे में कर लिया।

ईडी के असिस्टेंट डायरेक्टर प्रवीण कुमार झा से मिली जानकारी के अनुसार चंदेश्वर प्रसाद राय हिलालपुर वैशाली के निवासी हैं और अपने सेवाकाल 2013 से 2017 के बीच जमालपुर रेलवे के स्क्रैप की बड़ी मात्रा में चोरी कर जमालपुर के ही मैसर्स महारानी स्टील को बेच दिया था। इस पैसे से अपने और अपनी पत्नी के नाम से पांच जगहों पर अचल संपत्ति खरीदी थी और साथ ही बैंक अकाउंट में पैसे जमा किया। इसके अलावा एलआईसी बॉन्ड, फिक्स डिपाजिट, म्यूच्यूअल फंड भी खरीदे थे।

पटना में आवास सहित करोड़ों की पांच अचल संपत्ति को किया जा चुका है जब्त : Samastipur Rail News

इससे पूर्व उक्त रेल अधिकारी की वैशाली स्थित महनार के गोरीगामा स्थित भूमि, उसके पैतृक निवास स्थल हिलालपुर वैशाली की भूमि, पटना के गर्दनीबाग में आवासीय भवन और उसके साथ की भूमि और वहीं पर एक अन्य भूमि को ईडी की टीम के द्वारा पूर्व में ही कब्जा कर लिया गया था। इसमें से कई भूमि उसने अपनी पत्नी के नाम से खरीद रखे थे।

बेउर जेल में बंद है चंदेश्वर : Samastipur Rail News

स्क्रैप के घोटाले तथा चोरी के मामले में सेवानिवृत्त रेलवे सीनियर सेक्शन इंजीनियर चंदेश्वर प्रसाद यादव बेउर जेल में बंद है। प्रवर्तन निदेशालय की पहुंची टीम ने बताया कि घोटाले के मामले में इस रेल अधिकारी के यहां कई बार छापेमारी भी की गई थी और जांचोपरांत यह कार्रवाई की गई है। टीम ने बताया कि जांच के दौरान यह पता चला था कि 1 फरवरी 2013 से 2017 के बीच 38 लाख शुद्ध वेतन के अतिरिक्त 2 करोड़ 33 लाख 96 हजार 990 रुपए उसने निवेश किए या उसकी संपत्ति खरीदी।

Leave a Reply