अभी अभी : समस्तीपुर पुलिस ने बड़े हत्याकांड का किया खुलासा, कई अपराधी गिरफ्तार.

समस्तीपुर जिले में बीते 10 अगस्त को मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के बरबट्टा गांव में सड़क किनारे व्यवसाई राजेश कुमार सिंह उर्फ राजू की हत्या मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने घटना में संलिप्त मुख्य शूटर तथा उसके सहयोगी को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के बरबट्टा गांव में सुनसान सड़क पर व्यवसाई की हत्या मामले में समस्तीपुर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए हत्या में संलिप्त दो शूटर को गिरफ्तार कर लिया है। मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के बरबट्टा गांव निवासी राम कुमार सिंह के पुत्र राजेश कुमार सिंह उर्फ राजू की अपराधियों ने बीते 10 अगस्त को गोलियों से भून कर निर्मम हत्या कर दी थी। जिसके बाद से ही पूरे जिले में पुलिसिया कानून व्यवस्था पर लोग तरह-तरह के सवाल उठा रहे थे।

मृतक राजेश कुमार सिंह मुसरीघरारी एनएच किनारे बालू, गिट्टी एवं सीमेंट का व्यवसाय करता था। चुकी अपराधियों ने हत्या की इस घटना को सुनसान जगह पर अंजाम दिया था घटना का कोई प्रत्यक्ष दर्शी नहीं था। इसलिए पुलिस के लिए काफी चुनौतीपूर्ण मामला था। पुलिस अधीक्षक मानव जीत सिंह ढिल्लों के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने घटना का उद्भेदन कर लिया गया हैं। घटना में शामिल मुख्य सूटर चंदन कुमार सिंह तथा उसके एक सहयोगी विक्की पासवान को पुलिस की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है।

अपराधियों की गिरफ्तारी के दौरान पुलिस की टीम ने घटना में प्रयुक्त स्कॉर्पियो एवं दो मोबाइल को भी जप्त किया है। गिरफ्तार अपराधियों की पहचान उजियारपुर थाना क्षेत्र के भगवानपुर कमला गांव निवासी बंगाली महतो के पुत्र चंदन कुमार सिंह एवं उजियारपुर थाना क्षेत्र के रायपुर गांव निवासी विक्की पासवान के रूप में की गई है। पुलिस की टीम में मुसरीघरारी थाना अध्यक्ष संजय कुमार सिंह मुसरीघरारी थाना के मुकेश कुमार सहित अन्य पुलिस कर्मियों की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस की टीम ने बताया कि अन्य अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए भी लगातार छापेमारी की जा रही है।

दोनों गिरफ्तार अभियुक्तों से विस्तृत पूछताछ एवं तकनीकी अनुसंधान में घटना में शामिल सभी अपराधियों की पहचान तथा घटना के कारणों का खुलासा पुलिस की टीम द्वारा कर लिया गया है। हत्या के इस अपराधिक घटना में शामिल लोगों की भी पहचान की जा चुकी है। तकनीकी अनुसंधान से सभी की संलिप्तता की पुष्टि हो चुकी है। घटना में शामिल पांच अभियुक्तों की पहचान की गई है। जिसमें शूटर के रूप में पकड़े गए अभियुक्त चंदन कुमार सिंह के अलावा बरबट्टा गांव निवासी राम किशोर सिंह के पुत्र सूरज कुमार सिंह तथा उजियारपुर थाना के सातनपुर गांव निवासी फूल आमद के पुत्र आमिर भी शामिल है। इन तीनों के द्वारा अपाचे बाइक से व्यवसाई का पीछा करते हुए सुनसान स्थल पर हत्या कर दी गई थी।

स्कॉर्पियो का प्रयोग अपराधी के द्वारा कमला उजियारपुर से ग्राम बरबट्टा तक जाने में तथा घटना के पश्चात भागने में किया गया था। स्कॉर्पियो को भी पुलिस की टीम ने बरामद कर लिया है। विक्की पासवान की पहचान स्कार्पियो चालक के रूप में की गई है। इसके अलावा दो अन्य लाइनर की भी पहचान हुई है। इस घटना के पीछे षड्यंत्र में शामिल अन्य अपराधियों की भी पहचान हो गई है। पुलिस की टीम ने बताया कि जल्द ही उनकी भी गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

इस आपराधिक घटना के कारण के संबंध में बताया गया है कि घटना गांव से ही जुड़ा हुआ पाया गया है। मृतक गांव में मनरेगा के तहत एक पुलिया का निर्माण किया गया है। मृतक का पुल निर्माण स्थल को लेकर बरबट्टा गांव के ही राम किशोर सिंह के पुत्र सूरज सिंह से विवाद हो गया था। पूछताछ में यह स्पष्ट हुआ है कि मृतक द्वारा बेगूसराय में किसी महिला को अन्यत्र किराए पर रखा गया था। अभियुक्तों को भी इसके बारे में जानकारी चाहिए और वह मृतक को इसी लेकर अवांछित रुप से तंग कर रहे थे। उस महिला को लेकर भी मृतक का विवाद अभियुक्तों से चल रहा था। इन्हीं दो कारणों के तहत हत्या की घटना को अंजाम दिया गया है। पुलिस की टीम ने बताया जिले में बढ़ते आपराधिक घटनाओं को लेकर पुलिस की टीम लगातार तटपड़ कार्य कर रही है। जल्द ही घटना में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।