समस्तीपुर के मोस्टवांटेड अपराधी राजेश पाल को पुलिस ने किया गिरफ्तार. Samastipur Police

Samastipur Police: समस्तीपुर जिला बल की विशेष टीम ने मुसरीघरारी इलाके के मोस्ट वांटेड कुख्यात राजेश पाल को झारखंड के लोहरदगा रेलवे स्टेशन से रविवार को गिरफ्तार कर लिया। जिले में रंगदारी, हत्या, लूट के दर्जनभर से अधिक मामले में स्थानीय पुलिस को उसकी तलाश थी। इसके अलावा लोहरदगा में भी आरोपित राजेश पाल बैंक लूट के एक घटना का वांछित है।

जिला पुलिस की विशेष टीम को तकनीकी अनुसंधान के माध्यम आरोपितों का सुराग मिला। पुलिस अधीक्षक हृदयकांत के निर्देश पर सदर डीएसपी सेहबान हबीब फखरी के नेतृत्व में गठित एसआइटी ने शुक्रवार को झारखंड पुलिस के सहयोग से लोहरदगा स्थित कुख्यात राजेश पाल के ठिकानों पर छापेमारी की थी। इस दौरान लोहरदगा स्थित एक किराए के मकान से अवैध हथियार के साथ समस्तीपुर के चकमेहसी थाने के नीम चकहैदर निवासी रामरतन राय के पुत्र बांबे कुमार उर्फ बम्बईया को गिरफ्तार किया। उसके पास से एक पिस्टल, एक मैगजीन, नौ कारतूस, एक कट्टा बरामद हुए।

मुसरीघरारी का राजेश पाल, शेखोपुर का सन्नी सिंह और रविरंजन कुमार पुलिस को चकमा देकर भाग निकले। पुलिस सूत्रों के अनुसार कुख्यात राजेश पाल अपने गुर्गों के साथ बीते कई माह से झारखंड के लोहरदगा स्थित एक किराए के मकान में रहता था। तकनीकी अनुसंधान की मदद से पुलिस को आरोपितों का सुराग मिला। पुलिस हिरासत में पूछताछ में आरोपित राजेश पाल ने बताया कि लोहरदगा स्थित किराए के मकान में छापेमारी के बाद फिलहाल रांची रेलवे स्टेशन के समीप एक होटल में ठिकाना बनाया था। पुलिस अधीक्षक हृदयकांत ने बताया कि झारखंड में स्थानीय पुलिस से सहयोग से संयुक्त कार्रवाई की गई है।

कुख्यात राजेश पाल और उसके गुर्गाें ने बीते 28 फरवरी को झारखंड के गोड्डा जिले के महगामा में बंधन बैंक की शाखा से 16.70 लाख रुपये लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दिया था। इसलिए, स्थानीय पुलिस को भी आरोपितों की तलाश थी। झारखंड में स्थानीय पुलिस ने पकड़े आरोपितों को हिरासत में ले लिया है।

पूर्व मुखिया शशिनाथ झा हत्याकांड का आरोपित : मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के बखरी बुजुर्ग गांव में पंचायती के दौरान 6 अगस्त 2021 को अपराधियों ने पूर्व मुखिया शशिनाथ झा को गोलियों से भून डाला। हत्या में राजेश पाल और उसके गुर्गाें की संलिप्तता उजागार हुई। इसके बाद आरोपित राजेश पाल अपने गुर्गों के साथ भूमिगत हो गया। अन्य कई आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

मुसरीघरारी में गल्ला व्यवसायी चंद्रभूषण प्रसाद की सरेआम गोली मार कर दी थी हत्या:

मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के निवासी कुख्यात राजेश पाल के विरुद्ध मुसरीघरारी थाना समेत सदर अनुमंडल क्षेत्र के विभिन्न थानों में रंगदारी, हत्या व लूट के एक दर्जन मामले दर्ज हैं। वर्ष 2021 में राजेश पाल उसके गुर्गों ने मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के उदानपट्टी गांव में रंगदारी के लिए गल्ला व्यवसायी चंद्रभूषण प्रसाद को सरेआम गोलियों से छलनी कर इलाके में सनसनी फैला दी। वर्ष 2021 में 2 सितंबर को विश्वंभरपुर एलौथ में एक गल्ला व्यवसायी से इंटरनेट कॉल के जरीए पांच लाख रुपये रंगदारी मांगी गई। 7 अक्टूर को मुसरीघरारी इलाके में एक इलेक्ट्रॉनिक व्यवसायी से दो लाख रुपये रंगदारी मांगी गई। इससे इलाके में हड़कंप मच गया था।

Leave a Reply