Samastipur News : समस्तीपुर के नए एसपी विनय तिवारी ने किया योगदान एवं विभिन्न कार्यों की समीक्षा की.

Samastipur News : सोमवार को जिले के नए पुलिस कप्तान विनय तिवारी ने पुलिस अधीक्षक का पदभार ग्रहण कर लिया. पूर्व एसपी हृदयकांत ने पदभार की प्रक्रिया पूरी कराई.

 

Samastipur News : समस्तीपुर के नए एसपी विनय तिवारी ने सोमवार को पुलिस कार्यालय में योगदान किया। योगदान करने के बाद उन्होंने लगभग आधे घंटे से अधिक समय तक विभिन्न कार्यों की समीक्षा की। इसके साथ ही पुलिस कर्मियों से जिले की गतिविधियों के बारे में भी जानकारी ली। पूर्व एसपी हृदयकांत ने पदभार की प्रक्रिया पूरी कराई। इस दौरान एसपी हृदयकांत ने नए एसपी विनय तिवारी को विभाग के कर्मचारियों के बारे में जानकारी दी। इसके बाद एक समारोह का आयोजन किया गया।

 

बता दें कि समस्तीपुर के निवर्तमान एसपी हृदय कांत का 31 दिसंबर को बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस डेहरी में समादेष्टा के पद पर तबादला किया गया है। वहीं विनय तिवारी को समस्तीपुर का नया एसपी बनाया गया था। इस आलोक में नए एसपी विनय तिवारी ने समस्तीपुर जिले में योगदान किया।

 

विदित हो कि समस्तीपुर जिले में पिछले कई महीनों से अपराधियों का ग्राफ अचानक बढ़ गया है। वही ठंड के कारण पिछले एक सप्ताह से लगातार जिले में चोरी की वारदात की घटना भी बढ़ती जा रही है। नए एसपी को जिले में क्राइम कंट्रोल करना चुनौती के रूप में लेना होगा। हाल के दिनों में जिले में घटित कई घटना का खुलासाएवं अपराधियों की गिरफ्तारी भी इनके लिए चुनौती होगी। समस्तीपुर जिले में छह दिसंबर को भोला टॉकीज मालिक के घरडकैती हुई थी। मोहनपुर रोड में हीरा ज्वेलर्स से भी एक करोड़ की लूट हुई थी। खानपुर थाना क्षेत्र में भाजपा नेता की हत्या सहित कई अन्य मामले आज भी अनसुलझी बनी हुई है।

यह भी पढ़े :  समस्तीपुर में फिर मिले 217 नए कोरोना संक्रमित मरीज. | Samastipur News

 

बता दें कि आईपीएस विनय तिवारी मूल रूप से उत्तर प्रदेश से हैं। वह साल 2015 बैच के IPS अधिकारी हैं। वह न केवल अपनी शैक्षणिक उपलब्धियों के लिए बल्कि रचनात्मक गतिविधियों के लिए भी जाने जाते हैं। उत्तर प्रदेश के ललितपुर में जन्मे विनय तिवारी के पिता एक किसान हैं, जिन्होंने अपने बेटे की शिक्षा के लिए दिन -रात खेतों में काम किया। इंजीनियरिंग में रुचि रखने वाले विनय तिवारी स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद राजस्थान के कोटा चले गए। जिसके बाद वे प्रतिष्ठित IIT-BHU से सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल की। विदित हो कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की जांच के वे काफी चर्चा में आये थे।