Samastipur News : समस्तीपुर में एंबुलेंस ड्राइवरों ने हॉस्पिटल गोलंबर पर एंबुलेंस के साथ किया सड़क जाम, हड़ताल पर गए.

Ambulance drivers strike in Samastipur : एंबुलेंस चालकों का कहना है कि ईएमटी की मौत की जानकारी के बाद स्वास्थ्य विभाग का कोई भी कभी कर्मी हाल चाल जानने परिवार के पास नहीं पहुंचा. जिससे पोस्टमार्टम के बाद आक्रोशित हुए एंबुलेंस चालकों ने काम बंद कर एंबुलेंस के साथ हॉस्पिटल गोलंबर को जाम कर दिया. ‌ आक्रोशित एंबुलेंस चालक मृतक को मुआवजा देने के साथ ही अनुकंपा आधार पर उनके आश्रित को नौकरी देने की मांग कर रहे थे.

Samastipur Accident News : समस्तीपुर में सड़क हादसे में एंबुलेंस 102 नंबर के ईएमटी की मौत और चालक के जख्मी होने की सूचना के बाद आक्रोशित एंबुलेंस चालकों ने सोमवार शाम एंबुलेंस के साथ हॉस्पिटल गोलंबर को जाम कर दिया। साथी सभी लोग हड़ताल पर चले गए हैं।

जाम के कारण सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। जिससे समस्तीपुर पटना मुख्य मार्ग पर सैकड़ों वाहन फंस गए हैं ।घटना की सूचना पर सिविल सर्जन एंबुलेंस चालकों को समझाने बुझाने के लिए मौके पर पहुंचे हैं हालांकि एंबुलेंस चालक पहले मृतक कर्मी को मुआवजा व आश्रित को नौकरी देने की मांग कर रहे हैं ।साथ ही घायल हुए कर्मी को सरकारी खर्चे पर उपचार के साथ ही परिवारिक सदस्यों को मुआवजा देने की मांग पर डटे हुए हैं।

रविवार की रात अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचा से मरीज को लेकर आ रही 102 नंबर की एंबुलेंस पूसा कृषि विश्वविद्यालय के पास पेड़ से टकरा गई थी इस घटना में एंबुलेंस के ईएमटी राजन कुमार की मौत हो गई ,जबकि एंबुलेंस चालक अंकित कुमार गंभीर रूप से जख्मी हो गया ।

यह भी पढ़े :  समस्तीपुर में हाथ जोड़कर गुहार लगाता रहा बुजुर्ग, बच्चा चोर बता भीड़ ने की पिटाई. Samastipur News

एंबुलेंस चालकों का कहना है कि ईएमटी की मौत की जानकारी के बाद स्वास्थ्य विभाग का कोई भी कभी हालचाल जाने परिवार के पास नहीं पहुंचा। जिससे पोस्टमार्टम के बाद आक्रोशित हुए एंबुलेंस चालकों ने काम बंद कर एंबुलेंस के साथ हॉस्पिटल गोलंबर को जाम कर दिया। ‌ आक्रोशित एंबुलेंस चालक मृतक को मुआवजा देने के साथ ही अनुकंपा आधार पर उनके आश्रित को नौकरी देने की मांग कर रहे थे।

उधर सड़क जाम की सूचना पर नगर थाना अध्यक्ष चंद्रकांत गौरी के साथ ही सिविल सर्जन डॉ एसके चौधरी भी मौके पर पहुंच कर लोगों को समझाने बुझाने में लगे हुए हैं ।सिविल सर्जन ने कहा कि सरकारी प्रावधानों के तहत जो बन सकेगा वह करेंगे बावजूद एंबुलेंस चालक सड़क पर डटे हुए हैं। चालकों का कहना है कि जब तक उन लोगों की मांगे मानी नहीं जाएगी वह लोग स्ट्राइक पर रहेंगे।