आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर समस्तीपुर के परिवार का हादसा, युवक की मौत. Samastipur News

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर लखनऊ की ओर जा रही तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर ट्रक से जा टकराई। कार में सवार दंपती घायल हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी को सीएचसी भेजा। जहां परीक्षण के बाद चिकित्सकों ने चालक सह गृहस्वामी को मृत घोषित कर दिया। कार में सवार दोनों बच्चे बाल-बाल बच गए।

 

नई दिल्ली के दशरथपुरी कालोनी निवासी 40 वर्षीय रामनंदन अपनी 38 वर्षीय पत्नी रंजना, 10 वर्षीय पुत्र वंशनंदन व आठ वर्षीय पुत्री वंशिका के साथ कार से अपने गांव समस्तीपुर जिला के चकमेहसी थाना क्षेत्र के सोमनाहा मनिआरपुर आ रहे थे। शुक्रवार रात करीब दो बजे आगरा -लखनऊ एक्सप्रेस वे के 220 वें किमी पर उनकी कार आगे चल रहे ट्रक से टकरा गई।

कार चला रहे रामनंदन स्टेयरिग में फंस गए और पत्नी भी टक्कर में घायल हो गई। दोनों बच्चे सुरक्षित बच गए। मौके पर पहुंचे उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण के सुरक्षाकर्मियों व पुलिस ने उन्हें किसी तरह कार से बाहर निकाला। एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) भेजा। जहां परीक्षण के बाद चिकित्सकों ने रामनंदन को मृत घोषित कर दिया और घायल रंजना का उपचार किया। यूपीडा के इंस्पेक्टर धनेश प्रसाद ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

छह माह बाद अपने घर आ रहे थे रामनंदन: Samastipur News

छह माह पूर्व ही रामनंदन अपने घर आए थे। यहां कुछ दिन रहने के बाद वापस चले गए। जाते वक्त कहा था कि घर मरम्मत करानी है। छह माह बाद फिर आएंगे। इसी काम को लेकर रामनंदन अपने परिवार के साथ शुक्रवार को यहां आ रहे थे। इसी बीच हादसा हो गया। घटना की सूचना मिलते ही पूरे स्वजनों में कोहराम मच गया। पैक्स अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह बताते हैं कि

रामनंदन के छोटे भाई शंकर की मौत तीन वर्ष पूर्व हो गई थी। पिता राजेंद्र महतो भी पहले ही स्वर्गवासी हो गए थे। इसलिए मां सुंदरी देवी भी अपने पुत्र के साथ दिल्ली में रहती थी। रामनंदन वहां इलेक्ट्रिशियन का काम करते थे। इस घटना के बाद मृतक के ससुराल मोरसंड पंचायत में भी कोहराम मच गया है।

Leave a Reply