समस्तीपुर पुलिस को मिली बड़ी सफलता, जदयू नेता की हत्या मामले में एक आरोपी गिरफ्तार. Samastipur News

समस्तीपुर में जनता दल युनाइटेड (JDU ) कार्यकर्ता मो. खलील आलम रिजवी की अपहरण और हत्या मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने इस मामले में संलिप्त एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उक्त जानकारी सदर डीएसपी मो. सेहवान हबीब फ़करी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी है।

उन्होंने बताया कि रुपौली निवासी जदयू नेता के हत्या मामले का पुलिस ने उद्भेदन कर लिया है। इस मामले में संलिप्त एक आरोपी कल्याणपुर थाना क्षेत्र के बासुदेव पुर निवासी राज कपूर झा के पुत्र विपुल कुमार को गिरफ्तार किया है। डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त ने इस हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर लिया है एवं उसके निशानदेही पर हत्याकांड में शामिल अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

 

 

बता दें कि बीती रात अपराधियों ने मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के हुडहिया गांव निवासी 34 वर्षीय जेडीयू कार्यकर्ता मोहम्मद खलील आलम रिज़वी की हत्या कर कल्याणपुर थाना क्षेत्र स्थित एक पोल्ट्री फार्म में दफना दिया था। इस मामले में पुलिस गुमशुदगी का मामला दर्ज करने के बाद मोबाइल लोकेशन के आधार पर अपनी जांच को आगे बढ़ा रही थे। इसके तहत वो कार्रवाई करते हुए जब कल्याणपुर थाना क्षेत्र के बासुदेवपुर के पास बूढ़ी गंडक नदी के ढाब में पहुंची तो वहां का माजरा देखकर दंग रह गई। जहाँ सुनसान इलाके में बने एक पोल्ट्री फार्म के पीछे एक कमरे में जेडीयू कार्यकर्ता मोहम्मद खलील आलम रिज़वी की हत्या कर शव को अधजले स्थिति में दफना दिया गया था। हालांकि पुलिस का कहना है की मामला पैसे की लेन देन की हैं। जिसके कारण उक्त युवक की हत्या हुई है। फिलहाल पुलिस अपराधियों से पूछताछ कर रही है। गिरफ्तार अभियुक्त की निशानदेही पर लगातार पुलिस द्वारा छापेमारी की जा रही है।

इधर मृतकों के परिजनों का कहना है कि मोहम्मद खलील आलम रिजवी बीते 16 फरवरी की सुबह तकरीबन 11 बजे घर से निकला था। इसके बाद उसके मोबाइल से फोन कर पहले पांच लाख रुपया मांगा गया, फिर कुछ देर बाद उसके पिता के मोबाइल पर फोन आया, जिसमें 3,75,000 रुपये की डिमांड की गई। परिजनों के द्वारा फोन करने वाले शख्स से पूछा कि पैसा कहां देना है तो उसने इसे अपने अकाउंट में भेजने की बात कही गई। परिजनों ने किसी अनहोनी की आशंका को देखते हुए मुसरीघरारी थाना में इसकी शिकायत दर्ज़ करायी थी, जिसके बाद पुलिस के द्वारा जांच शुरू की गई।

 

 

 

 

Leave a Reply