समस्तीपुर कालेज में होगी बीबीए और बीसीए की पढ़ाई. Samastipur College Samastipur

Samastipur College Samastipur: समस्तीपुर में तकनीकी पढ़ाई करने वालों के अच्छी खबर है। समस्तीपुर कालेज, समस्तीपुर में जल्द ही बीबीए और बीसीए की पढ़ाई शुरू होगी। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति के निर्देश पर संबंद्धता समिति ने जांच कर शैक्षणिक परिषद को रिपोर्ट दे दी है। इन दोनों की पढ़ाई शुरू करने के लिए प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। अब सिडिकेट व सिनेट की अनुशंसा के बाद स्वीकृति के लिए राज्य सरकार को रिपोर्ट दी जाएगी।

अगर सबकुछ ठीक रहा तो अगले वर्ष 2023 से ही छात्र-छात्रा इस कालेज में बीबीए और बीसीए में नामांकन लेकर इसकी पढ़ाई कर सकेंगे। विदित हो कि मिथिला विश्वविद्यालय की टीम ने पिछले दिनों कालेज का निरीक्षण किया था। टीम ने कॉलेज में उपलब्ध सुविधाएं, क्लास रूम, कंप्यूटर की उपलब्धता, इन विषयों की पढ़ाई करने की इच्छुक छात्राओं की संख्या आदि के बारे में जानकारी हासिल की थी। टीम ने निरीक्षण प्रतिवेदन विश्वविद्यालय को सौंप दिया। रिपोर्ट से संतुष्ट होने के बाद राज्य सरकार कॉलेज में उक्त विषयों की पढ़ाई शुरू करने की स्वीकृति प्रदान करेगी।

 

छात्रों को मिलेगी रोजगारोन्मुख शिक्षा : Samastipur College Samastipur

बीबीए और बीसीए की पढ़ाई शुरू होने पर इस कालेज में छात्र-छात्राओं को रोजगारोन्मुख शिक्षा मिलेगी। उनका अच्छा करियर बनेगा और उन्हें नौकरी मिलने की संभावना काफी बढ़ जाएगी। इससे खासकर गरीब छात्रों को काफी राहत मिलेगी, जो इच्छा रहने के बाद भी आर्थिक तंगी के कारण बाहर जाकर ऐसे कोर्स नहीं कर पाते हैं। यदि राज्य सरकार इसकी स्वीकृति देती है तो उम्मीद है कि बीबीए और बीसीए में 60-60 सीटों पर नामांकन लिया जा सकेगा। नामांकन कालेज प्रबंधन के द्वारा निर्धारित शर्तों के आधार पर होगा। दोनों कोर्स का नामांकन शुल्क प्रशासनिक स्तर पर निर्धारित किया जाएगा।

किसी कालेज में नहीं होती बीबीए व बीसीए की पढ़ाई : Samastipur College Samastipur

वर्तमान में जिले के किसी भी सरकारी कालेज में बीबीए और बीसीए की पढ़ाई नहीं होती है। यदि विश्वविद्यालय से स्वीकृति मिली तो समस्तीपुर कालेज जिले का पहला कालेज होगा, जहां इन विषयों की पढ़ाई शुरू होगी।

निरीक्षण कमेटी ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। सिडिकेट व सिनेट की अनुशंसा के बाद स्वीकृति के लिए राज्य सरकार को रिपोर्ट दी जाएगी। अगर सबकुछ ठीक रहा तो अगले वर्ष 2023 से ही छात्र-छात्रा इस कालेज में बीबीए और बीसीए में नामांकन लेकर पढ़ाई कर सकेंगे।

डा. सत्येन कुमार, प्रधानाचार्य, समस्तीपुर कॉलेज समस्तीपुर.

Leave a Reply