समस्तीपुर में विश्व तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर सदर अस्पताल से जन जागरूकता रैली निकाली गई। samastipur civil hospital

samastipur civil hospital: समस्तीपुर जिले में विश्व तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर मंगलवार को जन जागरूकता रैली निकाली गई। रैली को सिविल सर्जन डा. एसके चौधरी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस वर्ष विश्व तंबाकू निषेध दिवस की थीम तंबाकू हमारे पर्यावरण के लिए खतरा विषय पर आमजन को जागरूक किया गया। रैली में चिकित्सक, स्वास्थ्य कर्मी और एएनएम स्कूल की प्रशिक्षु छात्राएं सम्मिलित हुई। रैली सदर अस्पताल से निकलकर विभिन्न सड़क मार्गों से होते हुए पुन: सदर अस्पताल पहुंचा। जहां पर सभा आयोजित हुई। सभा को संबोधित करते हुए सिविल सर्जन ने तंबाकू का सेवन नहीं करने को लेकर जागरूक किया। तंबाकू के किसी भी उत्पाद का सेवन नहीं करने का संकल्प दिलाया। सीएस ने कहा कि तंबाकू के नुकसान गिनाए जाने के बाद भी इसका सेवन करने वालों की संख्या में कमी नहीं आ रही है।

 

किशोरों में तंबाकू की लत को छुड़ाने के लिए सामाजिक स्तर पर पहल करने की जरूरत है। तंबाकू से लाखों लोग कई गंभीर बीमारियों के शिकार हो जाते और समय से पहले ही मौत के मुंह में चले जाते हैं। तंबाकू न सिर्फ किशोरों के दिमाग को प्रभावित कर रहा है, बल्कि नई पीढ़ी को खास नुकसान पहुंचा रहा है। तंबाकू और धूम्रपान न करने वालों के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा निरंतर कार्यक्रम चलाया जा रहा है। मौके पर जिला गैर संचारी रोग पदाधिकारी डा. विजय कुमार, प्रभारी उपाधीक्षक डा. आरपी मंडल, डा. गौरव कुमार, सुमंत कुमार, अस्पताल प्रबंधक विश्वजीत रामानंद आदि उपस्थित रहे। बच्चों एवं युवाओं पर अधिक दुष्प्रभाव : डा. गौरव कुमार ने कहा कि तंबाकू का सबसे अधिक दुष्प्रभाव स्कूली बच्चों और युवाओं पर पड़ रहा है। राज्य में तंबाकू का प्रयोग करने वाले 25.9 प्रतिशत, धुआं रहित तंबाकू यानी पान मसाला, जर्दा, खैनी का प्रयोग करने वाले 23.5 प्रतिशत, बीड़ी पीने वाले 4.2 प्रतिशत और सिगरेट पीने वाले 0.9 प्रतिशत लोग हैं। तंबाकू सेवन के कारण कैंसर, ह्रदय रोग जैसी बीमारियों की समस्या बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि तंबाकू- सिगरेट व्यवसाय जैसे शक्तिशाली व्यावसायिक समूह से मुकाबला के लिए सामाजिक चेतना आवश्यक है।

 

जागरूकता फैलाने को लेकर बनाई गई पेंटिग : तंबाकू के दुष्परिणामों के बारे में जनमानस में जागरूकता फैलाने को लेकर पेंटिग प्रतियोगिता आयोजित हुई। इसमें एएनएम स्कूल की छात्राओं ने तंबाकू निषेध पर अलग-अलग पेंटिग बनाई। इसमें कुल 12 तस्वीर को 25 छात्राओं ने बनाया। सभी को जमा कर लिया गया। इसमें उत्कृष्ट पेंटिग का चयन कर पुरस्कृत किया जाएगा। इसको लेकर डा. खुशबू ने पूर्व में पेंटिग का विषय बताकर सभी को जागरूक किया था।

INPUT - JAGRAN.COM

Leave a Reply