मुजफ्फरपुर आई हास्पिटल कांड के बाद समस्तीपुर सदर अस्पताल समेत दो निजी आई हास्पिटल में जांच. | Samastipur News

समस्तीपुर में मुजफ्फरपुर आई हास्पिटल में हुई घटना के बाद जिले में भी हड़कंप मच गया है। सिविल सर्जन डा. सत्येंद्र कुमार गुप्ता के आदेश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शुक्रवार को सदर अस्पताल समेत दो निजी आई हास्पिटल की जांच की। टीम सबसे पहले सदर अस्पताल परिसर स्थित आई वार्ड में पहुंची।

 

इसके बाद समस्तीपुर आई हास्पिटल और मिथिला आंख हास्पिटल की भी जांच की। जांच में दोनों प्राइवेट अस्पताल के आपरेशन थिएटर की व्यवस्था को देखा। सबसे पहले सदर अस्पताल में आपरेशन थिएटर का जायजा लिया। इसके साथ ही उपलब्ध संसाधनों के बारे में बारीकी से जांच की। जांच के क्रम में पाया कि आपरेशन थिएटर का स्वाब रिपोर्ट नहीं आने की वजह से मोतियाबिद का आपरेशन बंद है।

रिपोर्ट से स्पष्ट हुआ कि ऑपरेशन थिएटर का स्वाब कल्चर टेस्ट के लिए सैंपल लिया गया है। ओटी को स्टरलाइज्ड करने के बाद सैंपल लेकर जांच के लिए दरभंगा मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। रिपोर्ट नहीं आने को लेकर फिलहाल ऑपरेशन बंद रखा गया है। इसकी रिपोर्ट आने और अन्य जरूरी सामान उपलब्ध होने के बाद ही चिकित्सक आपरेशन करेंगे।

टीम में जिला मलेरिया पदाधिकारी डा. विजय कुमार, डा. आरके पंडित, डीपीसी डा. आदित्य नाथ झा शामिल रहे। विदित हो कि दोनों निजी संस्थान में मोतियाबिद आपरेशन पर रोक लगा दी गई थी। सीएस ने स्पष्ट बताया कि मुजफ्फरपुर आई हास्पिटल में हुई घटनाओं को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। यदि इसके उपरांत भी कोई आपरेशन किया जाता है तो इसकी सारी जवाबदेही संस्थान की होगी। टीम के रिपोर्ट के बाद विभागीय आदेश मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।