समस्तीपुर सदर अस्पताल में बिना मास्क नहीं मिलेगा प्रवेश. | Samastipur News

समस्तीपुर जिले में कोरोना का केस बढ़ रहा है। कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है। ऐसे में अब सदर अस्पताल में बिना मास्क लगाए इलाज कराने के लिए आने वाले मरीजों का पर्ची नहीं कटेगा। इसको लेकर रजिस्ट्रेशन काउंटर पर सूचना प्रदर्शित की गई है। साथ ही काउंटर पर भी सुरक्षा के दृष्टिकोण से पन्नी लगाया गया है।

 

सदर अस्पताल में प्रत्येक दिन मरीजों का कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया जा रहा है। इसके अलावा बिना मास्क के सिविल सर्जन कार्यालय में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। अस्पताल में तैनात तैनात स्वास्थ्य कर्मी, गार्ड से लेकर चिकित्सकों को अनिवार्य रूप से मास्क पहनकर रह रहे है। अस्पताल आने वाले मरीज और स्वजनों को हर हाल में कोरोना नियमों का पालन करना होगा।

 

एंटीजन किट में पॉजिटिव, आरटी-पीसीआर में निगेटिव: सिविल सर्जन का कोरोना संक्रमण जांच को लेकर एंटीजन किट में रिपोर्ट पॉजिटिव आया। इसके बाद आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट निगेटिव जारी हुआ। इसके अलावा जिला स्वास्थ्य समिति के कर्मी का भी ऐसा ही रिपोर्ट आया। एंटीजन में पॉजिटिव व आरटी-पीसीआर में निगेटिव। कर्मी की तबियत खराब रहने के बाद भी उनसे कार्यालय बुलाकर कार्य लिया जा रहा है।

 

खुले में रखा जा रहा मेडिकल कचरा, संक्रमण का खतरा: कोरोना काल में जिले के सदर अस्पताल में बायो मेडिकल वेस्ट कचरा खुले में फेंका जा रहा है। इस कारण संक्रमण और प्रदूषण का खतरा बढ़ गया है। सोमवार को उपयोग में लाए गए सीरिंज, मास्क, ग्लब्स, कार्टन कोरोना जांच किट खुले में फेंका हुआ दिखा। सदर अस्पताल के पास ही मेडिकल कचरा खुले में जला दिया जाता है। अस्पताल की मानिटरिंग के लिए अधिकारी नियुक्त हैं, फिर भी खुलेआम ऐसा होना व्यवस्था पर कई सवाल खड़े करता है। हाल के दिनों में कोरोना का मामला फिर से जिले में बढ़ने लगा है। इसके बाद भी इस तरह की लापरवाही दिख रही है।

Leave a Reply