महुआ बाजार में स्वर्णाभूषण दुकान से लूट मामले में समस्तीपुर से एसटीएफ ने चार संदिग्धों को उठाया. Jewellary Shop Loot

Jewellary Shop Loot: वैशाली जिला के पातेपुर रोड स्थित महुआ बाजार में स्वर्णाभूषण दुकान से हुई करोड़ों रुपये मूल्य के जेवरात लूट मामले में एसटीएफ और वैशाली पुलिस की विशेष टीम ने रविवार की रात जिले में कई संभावित ठिकानों पर छापेमारी करते हुए चार संदिग्धों को उठाया है। उसके पास से दो किलो चांदी और छह सौ ग्राम सोने का आभूषण बरामद हुआ है।

पकड़े गए आरोपितों की पहचान मुफस्सिल थाना क्षेत्र के आधारपुर निवासी चंदन राय और कुंदन के रुप में हुई है। इसके अलावा दलसिंहसराय थाना इलाके के चंदन और विद्यापतिनगर के गुलशन कुमार को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है। हलांकि, अनुसंधान प्रभावित होने के कारण पुलिस अधिकारी अभी कुछ भी बताने से परहेज कर रहे हैं।

सूत्रों की मानें तो महुआ बाजार स्वर्णाभूषण दुकान में हुई लूट मामले में गठित पुलिस टीम को तकनीकी अनुसंधान में आरोपितों का कुछ सुराग मिला। इसके आधार वैशाली पुलिस की विशेष टीम ने एसटीएफ की मदद से सोनपुर में छापेमारी कर समस्तीपुर के एक संदिग्ध को उठाया। उसकी निशानदेही पर समस्तीपुर में कई संभावित ठिकानों पर रविवार को छापेमारी की गई। इसी दौरान मुफस्सिल थाना और विद्यापतिनगर थाना इलाके से तीन संदिग्धों को उठाया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार समस्तीपुर में पकड़े गए आरोपितों के पास से करीब दो किलो चांदी और छह सौ ग्राम सोने का आभूषण बरामद हुआ है। लूटकांड के मास्टरमाइंड की पहचान कर ली गई है, जो अबतक पुलिस की नजरों से ओझल है। देर रात छापेमारी के बाद पुलिस टीम चारों आरोपितों को हिरासत में लेकर वैशाली की ओर रवाना हो गई। अनुसंधान प्रभावित होने के कारण स्थानीय पुलिस पदाधिकारी कुछ बताने से परहेज कर रहे है।

बता दें कि बीते 2 जून को वैशाली जिला के महुआ स्थित पातेपुर रोड में दिनदहाड़े हथियारबंद अपराधियों ने श्रीकृष्णा ज्वेलर्स नामक आभूषण की होलसेल दुकान में 20 लाख नकद समेत दो करोड़ रुपये से अधिक के जेवरात लूट लिए थे। इस दौरान आभूषण दुकानदार और कर्मियों को बंधक बनाकर मारपीट भी की थी। डकैतों की उम्र 15 से 25 वर्ष की बताई गई है। हथियारबंद अपराधियों ने ग्राहक बनकर इस घटना को अंजाम दिया था। घटना के बाद सीसीटीवी कैमरे की हार्डडिस्क भी निकाल ले गए। वैशाली पुलिस को घटनास्थल के आसपास से संदिग्धों के कुछ सुराग मिले। समस्तीपुर से भी कुछ संदिग्धों का लोकेशन मिला था। जिसके बाद से ही समस्तीपुर में संदिग्धों की तलाश जारी थी।

Leave a Reply