समस्तीपुर रेलवे अस्पताल में जमकर मारपीट, मची अफरातफरी. Samastipur News

समस्तीपुर रेलवे चिकित्सालय में बुधवार को दवा लेने पहुंचे टेक्नीशियन का फार्मासिस्ट से विवाद हो गया। आक्रोशित होकर फार्मासिस्ट कक्ष से बाहर निकलकर गाली- गलौज करते हुए मारपीट करने लगा। टेक्नीशियन परिसर में भागने लगा। फार्मासिस्ट ने टेक्नीशियिन को दौड़ा-दौड़ा कर मारपीट की।

इस क्रम में टेक्नीशियन की पत्नी बीच-बचाव करने लगी। उसके साथ भी फार्मासिस्ट ने अभद्र व्यवहार करते हुए धक्का-मुक्की की। इससे महिला के गोद से आठ माह का मासूम बच्चा जमीन पर गिर गया। मासूम बच्चे को चोट लगने से वह जोर-जोर से रोने लगा। इसके बाद तुरंत अस्पताल में बच्चे को दिखाया गया। उसे सिर्फ चोट लगी थी। घटना की सूचना मिलते ही रेल कर्मी के स्वजन अस्पताल परिसर पहुंच गए। साथ ही आरोपित पर कार्रवाई करने की मांग को लेकर हंगामा करना शुरू कर दिया।

जानकारी के अनुसार मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय प्रांगण स्थित समाडि कंट्रोल में कार्यरत टेक्नीशियन द्वितीय प्रमोद कुमार यादव अपने बच्चे का इलाज कराने रेल अस्पताल पहुंचे थे। अस्पताल में डा. मनीष कुमार से चिकित्सा कराने के उपरांत उनके द्वारा दवा लिखी गई। रेल कर्मी काउंटर पर पहुंच कर फार्मासिस्ट को दवा देने के लिए पर्ची दिया। काउंटर पर बैठे फार्मासिस्ट बीएन पासवान ने दवा देने से पहले बोल दिया कि प्रत्येक दिन दवा लेने पहुंच जाता है। इस पर कर्मी ने आपत्ति व्यक्त की। जिसके बाद दोनों के बीच बहस होने लगी।

इस क्रम में फार्मासिस्ट ने गाली- गलौज करते हुए कक्ष से बाहर निकल कर मारपीट करने के लिए दौड़ने लगा। कर्मी भी तेजी से दौड़ने लगा। इसी क्रम में उसके साथ मारपीट की गई। बाद में अन्य कर्मियों ने बीच बचाव करते हुए मामले को शांत कराया। इसके बाद फार्मासिस्ट ड्यूटी कक्ष से गायब हो गया। पीड़ित ने पूरे मामले की शिकायत मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से की है।

Leave a Reply