समस्तीपुर जेल के डॉक्टर के फर्जी पैड पर उपचार करने वाला झोला छाप डाक्टर गिरफ्तार. | Samastipur News

समस्तीपुर मंडल कारा के चिकित्सक अजय कुमार चौधरी के फर्जी पैड पर उपचार करने वाले एक झोला छाप डाक्टर राजेश कुमार को पुलिस ने हिरासत में लिया है। मंडल कारा के चिकित्सक ने शनिवार को इसकी शिकायत काजीमोहम्मदपुर थाना पुलिस से की। उनकी शिकायत पर रामदयालु से राजेश कुमार को पकड़ा गया।

एक मरीज के पहुंचने पर मामला आया सामने :

काजीमोहम्मदपुर थाना पुलिस को दिए गए आवेदन में समस्तीपुर मंडल कारा के चिकित्सक अजय कुमार ने कहा है कि झोला छाप डाक्टर राजेश कुमार उनका जो पैड इस्तेमाल कर रहा था। उस पर उनका रजिस्ट्रेशन व पंखाटोली स्थित आवास का पता अंकित है। शनिवार को उनके आवासीय क्लीनिक पर कुढऩी थाना क्षेत्र की एक महिला चुलिया देवी उपचार के लिए पहुंची। उसने जब पुराना पूर्जा दिखाया तो चौंक गए। जब उन्होंने महिला से पूछा कि यह पैड कहां से मिला है, तो उसने बताया कि मधौल में एक चिकित्सक का है।

उन्हीं से उपचार करवा रही है। जब ठीक नहीं हुआ तो पैड पर अंकित पते पर पहुंची है। जब इसकी उन्होंने छानबीन की तो पता चला कि राजेश कुमार उनके पैड का इस्तेमाल कर पिछले पांच साल से यह फर्जीवाड़ा कर रहा है। डा. अजय कुमार चौधरी ने बताया कि वे हड्डी रोग विशेषज्ञ हैं। पहले वे मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल में पदास्थापित थे। स्थानांतरित होकर फिलहाल वे समस्तीपुर मंडल कारा में पदस्थापित हैं। पंखाटोली में आवास पर भी उनका क्लीनिक है। यहां कभी-कभी आते हैं तो जो मरीज पहुंचते हैं उनका उपचार करता हूं।

15 सौ रुपये में लिया था पैड :

आरोपित राजेश कुमार ने बताया कि प्रभात नाम के व्यक्ति ने उससे 15 सौ रुपये लेकर यह पैड उपलब्ध कराया था। इसी पैड पर वह मरीजों को उपचार संबंधी परामर्श व दवाइयां लिखता था। वह पिछले 15 साल से प्रैक्टिस कर रहा था। पुलिस ने जब उससे सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपनी गलती स्वीकार की। काजीमोहम्मदपुर थानाध्यक्ष सत्येंद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि आरोपित को अपना सर्टिफिकेट प्रस्तुत करने को कहा गया है। सर्टिफिकेट की जांच की जाएगी। इसके बाद प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply