स्पेशल गेस्ट अपोलो डेंटल के निदेशक प्रमुख डॉ ज्ञानेंद्र कुमार ने कहा किसी भी दाम्पत्य के जीवन में बच्चो का जन्म लेना सबसे खुशी की बात.

बिहार में निसंतान लोगों को वैज्ञानिक उपचार लेने में संकोच नहीं करना चाहिए। यह एक बड़ी समस्या है जिसके कारण आए दिन परिवार में कलह होती है उक्त बातें उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद ने इंदिरा आईवीएफ पटना सेंटर के 6वा स्थापना दिवस पर कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि कहीं।

रोसरा विधानसभा के विधायक वीरेंद्र कुमार ने कहा कि जिस तरह हर बच्चे की जन्म के 6 दिन के बाद छठियार होता है। उसी प्रकार इंदिरा आईवीएफ पटना सेंटर का भी आज छठीयार है, इस अवसर पर हम इंदिरा आईवीएफ पटना के हेड डॉक्टर दयानिधि कुमार को हजारों दांपत्य को संतान सुख देने के लिए बधाई देते हैं। इस अवसर पर स्पेशल गेस्ट अपोलो डेंटल के निदेशक प्रमुख डॉ ज्ञानेंद्र कुमार ने कहा किसी भी दाम्पत्य के जीवन में बच्चो का जन्म लेना सबसे खुशी की बात है खासकर महिलाओं को मां बनना सौभाग्य की बात है और अगर किसी कारणवश वह मां नहीं बन पाती है इससे बड़ी पीरा उसके जीवन में कोई दूसरा नहीं हो सकता।

एक महिला के लिए उसकी जिंदगी का सबसे महत्वपूर्ण पल होता है अपने बच्चे को जन्म देना। बेशक बच्चे के जन्म में मां को पीड़ा होती हो, लेकिन बच्चे के जन्म लेते साथ ही उसकी यह पीड़ा एक खुशी में बदल जाती है। यह पल दुनिया की सबसे ख़ूबसूरत पलों में से एक हैं।

भारत में अभी भी निःसंतानता को लेकर लोगों में जागरूकता का अभाव है जिसकी वजह से काफी सारी महिलाएं मां बनने से वंचित रह जाती हैं, और उन सभी वंचितों का सहारा वनना अपने आप में एक पुण्य कार्य है। इंदिरा आईवीएफ समाजिक कार्यों में भी बढ़ चढ़के हिस्सा लेता है जैसे कि बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’, एक जीवन एक पेड़,आदी कार्यक्रम का हिस्सा रही हैं ।

इंदिरा आईवीएफ विगत 40 सालो से लोगो का सेवा कर रहे हैं और यह जान कर बहुत खुशी हुई है की आज इंद्रा आईवीएफ लगभग पूरे भारत में अपना 100 आईवीएफ सेंटर की स्थापना कर चुका है। और पटना ब्रांच अपना 6th स्थापना दिवस मना रहा है, यह ब्रांच निरंतर लोगों की सेवा कर रहा है और सामाजिक कार्य में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेता है।

इस से पूर्व सभी अतिथियों ने दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया एवं इंदिरा आईवीएफ के सेंटर हेड डॉ दयानिधि के द्वारा सभी अतिथि को पुष्प कुछ एवं राम मंदिर के प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया।