नहीं आए अपने, समस्तीपुर के दीनबंधु टीम ने कराया महिला का अंतिम संस्कार. Deen Bandhu Suruchi Sewa Foundation Samastipur

Deen Bandhu Suruchi Sewa Foundation Samastipur: समस्तीपुर सदर अस्पताल में पिछले डेढ़ महीने से अपनों का इंतजार कर रही लकवाग्रस्त बुजुर्ग महिला ने रविवार को दम तोड़ दी थी। बुधवार को शहर मोक्षधाम में पुलिस की मौजूदगी में दीनबंधु संस्था ने अंतिम संस्कार कराया। इसके अलावा मंगलवार को भर्ती हुई बुजुर्ग महिला के भी निधन पर उनका भी दाह संस्कार कराया।

विदित हो कि बुजुर्ग महिला की मौत के उपरांत रविवार को नगर थाना को सूचना दी गई थी। इसके उपरांत शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों के इंतजार में 72 घंटा तक शव सुरक्षित रखा गया। परिजन के नहीं आने पर बुधवार को दाह संस्कार की प्रक्रिया की गई। इसकी सूचना मिलने दीनबंधु के सात्विक सक्सेना व अन्य अस्पताल पहुंचकर कर शव को मोक्षधाम ले गए। जहां पर अंतिम संस्कार कराया गया।

जानकारी के अनुसार मृतका मधुबनी जिले के पंडौल निवासी भोला शंकर की पत्नी उर्मिला देवी बतायी जाती है। उनका भाई और भतीजा समस्तीपुर में ही रहता है। बताया जाता है कि लकवाग्रस्त होने के बाद परिवार के सदस्यों द्वारा खानपुर प्रखंड के चकवाखर में लकवा के होमियोपैथिक चिकित्सक के यहां इलाज कराया गया था। इसके बाद स्वजन उसी चिकित्सक के यहां मरीज को छोड़कर चले गए थे। बाद में चिकित्सक द्वारा काफी प्रयास करने के बाद उसके संबंधी को खोज निकाला था।

फिर महिला को उसके भतीजे को सौंप दिया गया था। होमियापैथिक चिकित्सक के यहां से लाकर महिला को सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में 14 मई को भर्ती करा दिया गया। इसके बाद स्वजन छुपकर फरार हो गए। जिसके बाद अस्पताल प्रबंधक डा. विश्वजीत रामानंद लगातार उनपर नजर बनाए हुए थे। चिकित्सक और कर्मियों द्वारा इलाज की जा रही थी।

Leave a Reply