Upendra Kushwaha : उपेंद्र कुशवाहा के बीजेपी में जाने की अटकलों से सियासी हलचल तेज, नीतीश कुमार ने दिया ये बड़ा बयान.

Nitish Kumar on Upendra Kushwaha: कुशवाहा, फिलहाल रेग्युलर ट्रीटमेंट के लिए एम्स में भर्ती हैं. उनसे बीजेपी नेता प्रेम रंजन पटेल, संजय टाइगर और योगेंद्र पासवान ने मुलाकात की थी.

 

Upendra Kushwaha Health : जेडीयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा से बिहार बीजेपी के तीन नेताओं की मुलाकात के बाद सियासी हलचल मच गई है. अटकलें लगाई जा रही हैं कि वह भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दामन थाम सकते हैं. शुक्रवार को बीजेपी पदाधिकारियों ने कुशवाहा से दिल्ली के एम्स में मुलाकात की, जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं

इन तस्वीरों के सामने आने पर बिहार में सियासी हलचल पैदा हो गई. राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी ने यह भी दावा किया कि कुशवाहा का पार्टी में स्वागत है. इस मामले पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की टिप्पणी भी सामने आई है. उन्होंने कहा, उपेंद्र कुशवाहा से कहिए कि मुझसे बात करें. उन्होंने कई बार हमारा साथ छोड़ा है. मुझे नहीं पता कि उनको क्या चाहिए. मैं पटना में नहीं था इसलिए इस बारे में मालूम नहीं है. वह फिलहाल अस्वस्थ हैं. मैं उनसे मिलकर इस मामले पर बात करूंगा. कुशवाहा, फिलहाल रेग्युलर ट्रीटमेंट के लिए एम्स में भर्ती हैं. उनसे बीजेपी नेता प्रेम रंजन पटेल, संजय टाइगर और योगेंद्र पासवान ने मुलाकात की थी.

दूसरी ओर, दिल्ली एम्स में उपेंद्र कुशवाहा से मुलाकात के बाद भाजपा के नेता प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि ये मुलाकात औपचारिक थी. कुशवाहा एम्स में भर्ती थे, इसलिए उनका कुशलक्षेम पूछने भाजपा के नेता गए थे. पटेल ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा भाजपा और एनडीए के पुराने सहयोगी रहे हैं, इसलिए वे लोग एम्स में जाकर उपेंद्र कुशवाहा का हालचाल जाना. इसे राजनीति से जोड़कर देखना सही नहीं.

यह भी पढ़े :  Samastipur News: समस्तीपुर में मानवता शर्मसार, अस्पताल में भर्ती करा फरार हुए परिजन.

बता दें कि उपेंद्र कुशवाहा ने अपनी पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी का नीतीश कुमार की पार्टी जदयू में विलय कर दिया था. इसके बाद कुशवाहा को संसदीय बोर्ड का राष्ट्रीय अध्यक्ष और एमएलसी बनाया गया लेकिन मंत्री नहीं. पिछले दिनों कुशवाहा के उप मुख्यमंत्री बनाए जाने की चर्चा भी थी, लेकिन नीतीश कुमार ने इसे सिरे से नकार दिया था. वैसे, पिछले दिनों कुशवाहा ने भाजपा में जाने की किसी भी संभावना से इंकार किया था, लेकिन एम्स से निकली इस तस्वीर ने भाजपा के साथ उनकी नजदीकियों को जगजाहिर कर दिया है.

इससे पहले गुरुवार को जदयू एमएलसी संजय सिंह ने पार्टी के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा की तस्वीर को हटाते हुए शहर भर में पोस्टर लगा दिए थे. इन पोस्टरों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, वित्त मंत्री विजय कुमार चौधरी, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, जल संसाधन मंत्री संजय झा, मंत्री लेसी सिंह और सुमित सिंह और जेडी-यू के लगभग सभी शीर्ष नेताओं की तस्वीरें हैं- कुशवाहा को छोड़कर.