बारिश के मौषम में हो सकती हैं कान में कीड़ा, ऐसे करें बचाव : डॉ सैयद मेराज़ इमाम, (कान रोग विशेषज्ञ चिकित्सक सदर अस्पताल समस्तीपुर )

समस्तीपुर सहित पूरे बिहार में बारिश का मौसम काफी आक्रामक रूप ले चुका जिसको देखते हुए अब मौसम से जुड़ी कई स्वास्थ समस्याएं लोगों को अपनी चपेट में लेने लगे हैं।

जिसको लेकर सदर अस्पताल के कान, नाक एवं गला रोग विशेषज्ञ चिकित्सक डॉ सैयद मेराज़ इमाम ने कहा कि, इस मौसम को हम भादो का मौसम बोलते हैं। इस मौसम में वातावरण में काफी नमी होती है जिसके कारण कान में इचिंग की समस्या आती है जिसके कारण कान में खुजली होने लगती है। इसके कारण लोग किसी भी आसपास के लकड़ी या नुकीली जैसे चीजों को कान में खुजलाने के रूप में इस्तेमाल कर लेते हैं। जिस कारण के कारण लकड़ी या नुकीली चीजों से वायरस हमारे कानों में ट्रांसफर हो जाती है। इसी कारण कान में ऑटोमायकॉसिस की बीमारी उत्पन्न हो जाती है। (उसे सामान्य भाषा में कान में कीड़ा लगना भी कहते हैं ) वैसे लोग जो मधुमेह से पीड़ित है उन्हें समस्या होने पर यह काफी गंभीर रूप ले लेता है।

 

 

बीमारी उत्पन्न होने के कारण लोग आसपास के मेडिकल स्टोर से छोटी – मोटी आई ड्रॉप लेकर अपने मन से या दुकानदार की सलाह पर उसका उपयोग करने लगते हैं। इसी कारण बीमारी विकराल रूप ले सकता है। इसीलिए बिना किसी डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी दवा या एयरड्राप के इस्तेमाल से बचना चाहिए। ऐसे मामलों में तुरंत ही कान – नाक से संबंधित विशेषज्ञ चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए। उचित परामर्श लेकर दवा का निरंतर प्रयोग करना चाहिए। इधर-उधर के मेडिकल स्टोर से लिए गए दवा को बिना चिकित्सक के परामर्श के उपयोग करने पर कोई और बड़ी समस्या हो सकती है।

कान के फंगस ऐसी बीमारी है जिसका अच्छी तरीके से इलाज नहीं किया जाए तो काफी लंबे समय तक लोगों को परेशान करता है एवं मधुमेह वाले मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। इसीलिए इस मौसम को देखते हुए सभी लोगों को साफ सफाई का ध्यान रखना चाहिए एवं किसी भी सामान को कान में खुजली आने के लिए इस्तेमाल करने से बचना चाहिए एवं किसी भी प्रकार की समस्या होने पर तुरंत ही चिकित्सक से संपर्क कर परामर्श लेना एकदम जरूरी है। वही कोरोना महामारी के आने वाले तीसरे लहर को लेकर उन्होंने कहा कि आप सभी लोगों को कोरोना महामारी गाइडलाइंस से बचने के लिए सभी जानकारी उपलब्ध है लोगों को मास्क, सैनिटाइजर एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए एवं कोरोना महामारी से बचाव के लिए वैक्सीनेशन जरूर लेना चाहिए।