समस्तीपुर पुलिस ने पैरों के निशान से गन्ने के खेत से डकैतों को दबोचा. Rosera Central Bank Loot

समस्तीपुर के सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में 65 लाख की डकैती के बाद भागकर गन्ने के खेत में छिपे तीन लुटेरों को पुलिस ने उनके पैरों के निशान से पकड़ा। लुटेरे ने दूसरे गन्ने के खेत में लूटे हुए रुपए और पिस्टल छिपा रखी थी और दूसरे खेत में खुद छिप गए थे।

डकैत Samastipur Police  को उलझाना चाहते थे। गन्ने के दोनों खेत के बीच में गेहूं का खेत था। एक खेत से दूसरे खेत में जाने के दौरान गेहूं के खेत में लुटेरों के पैर के निशान बन गए थे। इसी पैर के निशान के आधार पर पुलिस लुटेरों के करीब पहुंच गई। कैश-पिस्टल के साथ तीनों को गिरफ्तार कर लिया।

ग्रामीणों का कहना है कि गन्ने के पहले खेत से 39 लाख रुपए और पिस्तौल मिलने के बाद पुलिस लौटने के मूड में थी, लेकिन एसपी के साथ गये मुख्यालय डीएसपी अमित कुमार ने खोज जारी रखने का निर्णय लिया। उन्होंने लुटेरों की खोज जारी रखने के साथ वहां घास काट रही महिलाओं से पूछताछ की तो पता चला कि तीन युवक गन्ने के खेत में घुसे हुए हैं।

तलाशी अभियान के दौरान बगल के पानी पटे गेंहू के खेत में पुलिस को पैर के निशान दिखे। इसके आधार पर पुलिस गन्ने के दूसरे खेत में भी घुसी और छिप कर बैठे तीनों लुटेरों को पकड़ने में कामयाबी हासिल की।

इधर, एक लुटरों को बाइक लेकर भागने के दौरान अंगारघाट थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया। उसके पास से 26 लाख रुपए मिले थे। करीब छह घंटे की सर्च अभियान के बाद तीन अन्य लुटेरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जिसके पास से लूट की 39 लाख रुपए भी बरामद कर ली गई।

यह भी पढ़े :  समस्तीपुर में जहरीली शराब पीने से दो लोगों की मौत, तीन की हालत नाजुक. | Samastipur News

समस्तीपुर में झोले से 10 लाख कैश-कट्‌टा बरामद :

बता दें कि रोसड़ा थाने के ऐरौत गांव स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा से 65 लाख रुपए की लूट हुई थी। सोमवार सुबह बैंक खुलते ही तीन अलग-अलग बाइक से पांच की संख्या में अपराधी पहुंचे। बैंक पर धावा बोलकर 65 लाख रुपए से अधिक की लूट की घटना को अंजाम दिया था।