समस्तीपुर के रोसड़ा थाना पर हमले के बाद रोसड़ा पहुंचे एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों.

समस्तीपुर से है जहां आक्रोशित सफाईकर्मियों नें थाने में जमकर तोड़फोड़ किया। मामला रोसड़ा नगर पर्षद के कार्यपालक पदाधिकारी से साथ मारपीट और बदसलूकी से जुड़ा है।

 

रोसड़ा नगर परिषद के ईओ से बदसलूकी के आरोप में गिरफ्तारी के बाद सफाई कर्मी की हालत गंभीर होने से आक्रोशित सफाई कर्मियों ने बुधवार सुबह रोसड़ा थाने में तोड़फोड़ की। सफाई कर्मियों ने थाने के बरामदे में रखी कुर्सियों व सामानों को तोड़ कर क्षतिग्रस्त कर दिया। उसके बाद आक्रोशित सफाईकर्मियों ने थाना को घेर लिया पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारे लगाना शुरू कर दिया।

 

 

यह मामला रोसड़ा नगर पर्षद के ईओ के साथ मारपाट का है। वेतन भुगतान नहीं होने से आक्रोशित सफाई कर्मियों के प्रतिनिधिमंडल से वार्ता के दौरान विवाद के बाद नगर परिषद के ईओ जयकांत अकेला से दुर्व्यवहार किया था। ईओ पर एक कर्मी रामसेवक राम ने हाथ चला दिया। घटना का वीडियो बड़ी तेजी से वायरल हुआ था। ईओ के प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद पुलिस ने नामजद सफाईकर्मी रामसेवक राम को गिरफ्तार किया था।

 

यहाँ देखें वीडियो … 👇👇👇

 

 

 

 

सोमवार की रात पुलिस कस्टडी में उसकी तबीयत बिगड़ने लगी। हाजत में तबीयत बिगड़ने पर उसे रोसड़ा अस्पताल ले जाया गया था। जहां गंभीर हालत देख डॉक्टर ने डीएमसीएच रेफर कर दिया था। बताया गया है कि डीएमसीएच से बीती रात सफाई कर्मी को पटना रेफर किया गया था। लेकिन, बीमार के परिजन और साथी सफाकर्मी उसे पटना नही ले गये। सुबह में एक ठेला पर गंभीर रूप से बीमार सफाईकर्मी को लेकर अन्य कर्मी रोसड़ा थाना पहुंच गये। वहां सफाईकर्मियों ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए नारेबाजी शुरू कर दिया और तोड़फोड़ शुरू कर दी। आक्रोश देखकर थाना में मौजूद पुलिस कर्मी भाग निकले। मौके पर वरीय अधिकारी पहुंच चुके हैं और समझाने की कोशिश जा रही है। दोनो ओर से बात चीत चल रही है।

 

 

वहीं इस मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लों रोसेरा पहुंचे। जहाँ इस मामले को लेकर कहा की विवाद नगर परिषद् के रोसड़ा नगर पर्षद के कार्यपालक पदाधिकारी से साथ मारपीट और बदसलूकी से जुड़ा है। जीके बाद आरोपी को हिरासत में लिया गया था। वो पहले से कई बीमारी से पीड़ित थे। जिसके बाद लिए भर्ती कराया गया था। इस मामले में जिन असामाजिक तत्व ने कानून अपने हाथ में लिया उनपर कार्यवाई की जाएगी।

 

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि थाना परिसर एवं अन्य सभी जगहों पर सीसीटीवी फुटेज लगी है। किसी भी मामले को लेकर अगर शिकायत आएगी तो उस पर जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी। लेकिन इस तरह कानून अपने हाथ में लेना एवं सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने पर किसी भी असामाजिक तत्व को नहीं माफ किया जाएगा।