समस्तीपुर में खुले में फेंक दी गई शराब, छह बच्चे बीमार – दो की आंखों की रोशनी गायब. | Poisonous Liquor Scandal Samastipur

समस्तीपुर जिले के पटोरी थाना क्षेत्र में बीते चार दिनों से जहरीली शराब का कहर जारी है। पहले रुपौली गांव में चार, फिर हसनपुर सूरत में दो की मौत के बाद सोमवार को उत्तरी धमौन गांव में भी एक किशोर की पीएमसीएच में इलाज के दौरान जान चली गई। अब मरने वालों की संख्या सात हो गई है। उत्तरी धमौन में जहरीली शराब से छह किशोर गंभीर रूप से बीमार हो गए। इसमें दो की आंखों की रोशनी गायब हो गई। Poisonous Liquor Scandal Samastipur

 

खुले में फेंक दी गई थी शराब : पुलिस और ग्रामीण सूत्रों के अनुसार, जब जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़ने लगी तो छापेमारी के भय से लोगों ने छिपाकर रखी शराब को खुले में फेंक दी। धमौन के चौर और खुले स्थानों पर फेंकी गई शराब को शनिवार की शाम में कुछ किशोरों ने देखा और साथियों को सूचना दी। सभी कुछ बोतलें घर ले गए और सेवन किया। Poisonous Liquor Scandal Samastipur

 

रविवार को तबीयत बिगड़ने लगी। स्वजन इलाज के लिए हाजीपुर ले गए। कुछ किशोर इलाज करा लौट आए। गंभीर किशोरों को पीएमसीएच और अन्य स्थानों पर रेफर कर दिया गया। घर लौटे किशोरों की तबीयत रविवार शाम फिर बिगड़ने लगी तो स्वजन इलाज के लिए हाजीपुर और अन्य स्थानों पर ले गए। इनमें से एक को पटोरी अनुमंडल अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सक डा. दीपक कुमार ने जहरीली शराब के प्रारंभिक लक्षण देख समस्तीपुर सदर अस्पताल रेफर कर दिया। Poisonous Liquor Scandal Samastipur

 

बीमार किशोरों में रोशन (14), रवि (14), आनंद (15), मुन्ना (15), छोटू (14) और सनी कुमार (16) हैं। इसमें मुन्ना की मौत पीएमसीएच में सोमवार को हो गई। पटोरी एसडीओ मो. जफर आलम ने कहा कि सभी उत्तरी धमौन के निवासी हैं। Poisonous Liquor Scandal Samastipur