पेट्रोल 9.5 रुपए और डीजल 7 रुपए हुआ सस्ता. Petrol Diesel Price Today

 केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों में भारी कटौती की है. एलपीजी गैस सिलेंडर, पेट्रोल और डीजल के दामों में भारी कटौती हुई है.

 

देशवासियों के लिए बड़ी खुशखबरी है. देशभर में पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) अब सस्ता हो गया है. सरकार ने पेट्रोल (Petrol price) पर 8 रुपए और डीजल (Diesel Price) पर 6 रुपए एक्साइज ड्यूटी (Excise Duty) घटाई है. इसके बाद पेट्रोल 9.5 रुपए प्रति लीटर सस्ता मिलेगा. वहीं, डीजल भी 7 रुपए प्रति लीटर सस्ता होगा. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट कर बताया कि सरकार ने सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी घटाने का फैसला लिया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कहा है कि हम पेट्रोल पर सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी में 8 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 6 रुपये प्रति लीटर की कमी कर रहे हैं. इससे पेट्रोल की कीमत 9.5 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 7 रुपये प्रति लीटर कम हो जाएगी. 

 

निर्मला सीतारमण ने किया ऐलान : 

केंद्र सरकार ने शनिवार शाम देशवासियों को राहत देते हुए पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी (Excise Duty on Petrol-Diesel) में बड़ी कटौती की. केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने जानकारी देते हुए कहा हम पेट्रोल पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क (Central excise duty) में 8 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर 6 रुपए प्रति लीटर की कमी कर रहे हैं. इससे पेट्रोल की कीमत 9.5 रुपए प्रति लीटर लीटर और डीजल की कीमत 7 रुपए प्रति लीटर कम हो जाएगी. हालांकि, सरकार के राजस्व पर इससे ₹1 लाख रुपए का सालाना असर होगा.

 

 

आज रात से लागू होंगी नई कीमतें : 

शनिवार मध्यरात्री रात 12 बजे से पेट्रोल-डीजल की नई कीमतें लागू होंगी. पिछले दिनों PM मोदी ने लोगों को महंगाई से राहत दिलाने के लिए राज्यों को एक्साइज ड्यूटी (Excise Duty) कम करने की सलाह दी थी. हालांकि, कुछ राज्यों ने ही पिछले दिनों वैट में कटौती की थी. लेकिन, अभी ज्यादातर राज्यों में वैट ज्यादा है. निर्मला सीतारमण ने कहा- हम राज्यों से भी उम्मीद करते हैं, जिन्होंने नवंबर 2021 के बाद से कोई कटौती नहीं की है, वो भी आम जनता को थोड़ी राहत देंगे.

महाराष्ट्र में सबसे महंगा पेट्रोल : 

देश में सबसे महंगा पेट्रोल महाराष्ट्र के परभणी में 123.46 रुपए प्रति लीटर था, जबकि डीजल आंध्र प्रदेश के चित्तूर में 107.61 रुपए प्रति लीटर. वहीं, सबसे सस्ता पेट्रोल पोर्ट ब्लेयर में 91.45 रुपए और डीजल 85.83 रुपए लीटर था. वहीं, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत (Petrol price today) 105.41 रुपए प्रति लीटर और डीजल की कीमत (Diesel price today) 96.67 रुपए प्रति लीटर है. मुंबई में पेट्रोल 120.51 रुपए लीटर और डीजल 104.77 रुपए लीटर बिक रहा है. हालांकि, अब एक्साइज ड्यूटी में कटौती के बाद देशभर में पेट्रोल-डीजल के दाम कम हो जाएंगे.

गैस सिलेंडर पर 200 रुपए की सब्सिडी : 

मोदी सरकार ने पीएम उज्ज्वला योजना (PM Ujjwala Yojana) के करीब 9 करोड़ लाभार्थियों को गैस सब्सिडी देने का भी फैसला किया है. सरकार ने कहा है कि वह प्रति गैस सिलेंडर 200 रुपये की सब्सिडी देगी. निर्मला सीतारमण ने ट्वीट में लिखा है कि इससे माताओं-बहनों को बहुत मदद मिलेगी. इससे सरकार पर सालाना करीब 6100 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा.

लिए गए और भी बड़े फैसले : 

सीतारमण ने कहा कि यह कटौती हमारी माताओं और बहनों की मदद करेगी. इससे सालाना लगभग 6,100 करोड़ रुपये का राजस्व निहितार्थ होगा. हम प्लास्टिक उत्पादों के लिए कच्चे माल और बिचौलियों पर सीमा शुल्क भी कम कर रहे हैं, जहां हमारी आयात निर्भरता अधिक है. इससे अंतिम उत्पादों की लागत में कमी आएगी.

LPG की कीमतों में भी कटौती : 

महंगाई के बीच, केंद्र ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के नौ करोड़ से अधिक लाभार्थियों को प्रति गैस सिलेंडर (12 सिलेंडर तक) 200 रुपये की सब्सिडी देने का भी फैसला किया है. बढ़ते रसोई गैस के दाम पर भी केंद्र सरकार ने बड़ी राहत दी है. एलपीजी की कीमत पर 200 रुपये सब्सिडी मिलेगी.

कच्चे माल पर भी सीमा शुल्क कम किया जाएगा : 

वित्त मंत्री ने कहा, हम प्लास्टिक उत्पादों के लिए कच्चे माल और बिचौलियों पर सीमा शुल्क भी कम कर रहे हैं. प्लास्टिक उत्पादों पर हमारी आयात निर्भरता अधिक है. उन्होंने कहा कि स्टील के कुछ कच्चे माल पर भी आयात शुल्क कम किया जाएगा. इसके अलावा, कुछ इस्पात उत्पादों पर निर्यात शुल्क लगाया जाएगा. सीतारमण ने कहा, सीमेंट की उपलब्धता में सुधार के लिए और सीमेंट की लागत को कम करने के लिए बेहतर रसद के माध्यम से उपाय किए जा रहे हैं.

 

विपक्ष की तरफ से बनाया गया था दबाव : 

पिछले कुछ महीनों में पेट्रोल एवं डीजल की कीमतें बढ़ने के अलावा रसोई गैस की कीमतें भी लगातार बढ़ी हैं. इसकी वजह से लोगों के बजट पर बुरा असर पड़ रहा था. इसको देखते हुए तमाम जानकार एवं विपक्षी दल ईंधन कीमतों में कटौती की मांग कर रहे थे. सरकार के ऊपर भी दाम में कमी कनरे का दबाव बनता जा रहा है. कांग्रेस से लेकर आम आदमी पार्टी तक ने सरकार को बढ़ती कीमतों को लेकर घेरा था. हालांकि, अब सरकार ने आम आदमी की परेशानी को समझते हुए कीमतों में कटौती करने का ऐलान किया है.

Leave a Reply