समस्तीपुर में 17.41 लाख की लूट मामले में पुलिस ने पांच संदिग्धों को दबोचा. | Samastipur News

समस्तीपुर जिले के चकमेहसी थाना क्षेत्र के मालीनगर गांव स्थित ऑनलाइन कंपनी इंस्टाकार्ट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के कार्यालय में घुसकर बदमाशों ने 17 लाख 41 हजार 700 रुपये लूट लिये। लूट की इस घटना को रविवार रात करीब पौने नौ बजे तीन बाइक से आये छह नकाबपोश बदमाशों ने अंजाम दिया। लूट के बाद सभी पिस्तौल लहराते हुए कल्याणपुर की ओर फरार हो गये। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जायजा लेने के बाद पूरी रात छापेमारी की। इस क्रम में पांच संदिग्धों को भी उठाया। सभी से थाने में गहन पूछताछ की जा रही है।

 

एसपी हृदयकांत ने बताया कि लूट की घटना की विभिन्न बिंदुओं पर जांच करने के साथ लुटेरों का पता लगाने के लिए आसपास के सीसीटीवी कैमरे की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि जल्द ही लूट की घटना का खुलासा कर बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

 

जानकारी के अनुसार, चकमेहसी थाना क्षेत्र में पूसा- कल्याणपुर मुख्य पथ से सटे मालीनगर गांव स्थित शैल भवन में इंस्टाकार्ट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का कार्यालय है। कार्यालय रविवार देर शाम तक खुला था। रात करीब पौने नौ बजे कार्यालय में तीन कर्मचारी कैश का मिलान कर रहे थे। उसी वक्त बाइक पर सवार छह नकाबपोश बदमाश पहुंचे और पिस्तौल के बल पर सभी कर्मियों को अपने कब्जे में कर 17 लाख 41 हजार 700 रुपये लूट लिये। कर्मियों ने बताया कि सभी लुटेरे चेहरे पर मास्क लगाने के साथ ही हेलमेट भी पहने हुए थे। लूटपाट के बाद लुटेरों ने कार्यालय में लगे सीसीटीवी कैमरे को तोड़ दिया और हार्ड डिस्क निकाल अपने साथ ले गए।

 

कंपनी के टीम लीडर राजेश कुमार ने बताया कि रविवार रात करीब 8.45 बजे तीन कर्मियों के साथ कैश का मिलान करने के दौरान बदमाशों ने कार्यालय में धावा बोलकर लूट की घटना का अंजाम दिया। शनिवार और रविवार को बैंक बंद रहने के कारण तीन दिनों का कैश कार्यालय में ही था। लूट की घटना के बाद टीम लीडर ने घटना की जानकारी चकमेहसी थाना को दी।

 

सूचना पर चकमेहसी पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और जांच पड़ताल की। सोमवार को एसपी हृदयकांत, डीएसपी एसएच फाकरी, सदर इंस्पेक्टर विक्रम आचार्य, कल्याणपुर थानाध्यक्ष परमानंदलाल कर्ण, डीआईओ के सब इंस्पेक्टर संजय कुमार सिंह पुलिस बल के साथ पहुंच कंपनी के कर्मियों से घटना की जानकारी ली। इस दौरान एसपी ने स्थानीय पुलिस को विभिन्न बिंदुओं पर जांच करने का निर्देश दिया। लूट की घटना को लेकर कंपनी के टीम लीडर राजेश कुमार ने थाने में आवेदन दिया है। इधर, सूत्रों की माने तो कंपनी का कर्मी कार्यालय का गेट खोल पान थूकने बाहर निकला था। उसी वक्त दरवाजा खुला होने की वजह से बदमाश कार्यालय के भीतर आसानी से प्रवेश करने में कामयाब रहे।

Leave a Reply