Samastipur News : हसनपुर विधायक तेज प्रताप यादव पर रोसड़ा थाने में एफआईआर दर्ज.

समस्तीपुर ज़िले के हसनपुर विधानसभा क्षेत्र के राजद विधायक और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव के विरुद्ध रोसड़ा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। मामला वर्ष 2020 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान गलत शपथ पत्र दाखिल करने से जुड़ा है।

निर्वाचन आयोग के आदेश और जिला निर्वाचन पदाधिकारी के निर्देश पर प्रभारी डीसीएलआर सह रोसड़ा एसडीओ ब्रजेश कुमार ने यह कार्रवाई की है। तेजप्रताप यादव को अचल संपत्ति छिपाने के आरोप में लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 125 (क) के तहत आरोपित किया गया है।

गौरतलब है कि बिहार प्रदेश जनता दल ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, पटना के समक्ष इस मामले की शिकायत दर्ज कराई थी। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने इस शिकायत को भारत निर्वाचन आयोग को भेजा था। आयोग ने मामले को केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) को सौंपते हुए प्रतिवेदन समर्पित करने का आदेश जारी किया।

बोर्ड की सूचना के अनुसार विधानसभा निर्वाचन 2015 और 2020 के लिए दाखिल शपथ पत्रों के बीच चल-अचल संपत्तियों में 82 लाख 40 हजार 867 की वृद्धि बताई गई। जबकि, वित्तीय वर्ष 2015-16 से 2016-20 तक आयकर विवरणी के हिसाब से कुल आय सिर्फ 22 लाख 76 हजार 220 रुपये ही बनती है।

शिकायत में वर्णित गोपालगंज जिले की परिसंपत्तियां भी सब रजिस्ट्रार के रिकार्ड के अनुसार तेज प्रताप यादव के नाम पर पंजीकृत बताई गई, जो 2020 के निर्वाचन के शपथ पत्र में वर्णित परिसंपत्तियों से मेल नहीं खाती है। इस मामले में आयोग ने तेज प्रताप यादव को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए तीन सप्ताह के अंदर प्रति उत्तर देने का निर्देश था। निर्धारित अवधि में जवाब नहीं देने पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

Leave a Reply