बर्बरता : छत्तीसगढ़ में कॉन्स्टेबल ने पार कीं हैवानियत की सारी हदें, दो साल की बच्ची को सिगरेट से जलाया.

छत्तीसगढ़ के बालोद जिले में एक कॉन्स्टेबल ने दो साल की बच्ची के साथ हैवानियत की सारी हदें पार कर दीं। उसने बच्ची को सिगरेट से जला दिया, जिसके बाद उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने बच्ची पर पापा बोलने का भी दबाव डाला। घटना सामने आने के बाद आरोपी कॉन्स्टेबल को टर्मिनेट करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ने शनिवार को जिले की पुलिस को वर्तमान में दुर्ग में तैनात आरोपी कॉन्स्टेबल को टर्मिनेट करने की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया। बालोद जिले के एसपी जीतेंद्र मीणा ने बताया कि बच्ची के शरीर को सिगरेट से जलाने वाले आरोपी कॉन्स्टेबल का नाम अविनाश राय है। उसे शनिवार सुबह दुर्ग जिले से बालोद पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा, ”डीजीपी के निर्देश के अनुसार, कॉन्स्टेबल को टर्मिनेट करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।”

उन्होंने कहा, ”आरोपी कॉन्स्टेबल गुरुवार रात को बालोद आया था और वह पहले जहां पर किराये के मकान में रहता था, वहां गया।” मीणा ने बताया, ”इसके बाद, आरोपी कॉन्स्टेबल ने महिला की बच्ची के शरीर को सिगरेटों से जलाना शुरू कर दिया।”

एसपी ने कहा – ”आरोपी कॉन्स्टेबल गुरुवार रात को बालोद आया था और वह पहले जहां पर किराये के मकान में रहता था, वहां गया।” मीणा ने बताया, ”इसके बाद, आरोपी कॉन्स्टेबल ने महिला की बच्ची के शरीर को सिगरेटों से जलाना शुरू कर दिया”.

एसपी ने आगे बताया कि जिस दौरान बच्ची को आरोपी सिगरेट से जला रहा था, उस समय वह उससे खुद को पापा बोलने के लिए कह रहा था। पुलिस ने आगे बताया, ”पीड़िता की मां शुक्रवार रात को नजदीकी पुलिस थाने पहुंचीं और कॉन्स्टेबल के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। आरोपी दुर्ग जिले से है और इससे पहले उसकी पोस्टिंग बालोद जिले में थी।

वहीं, डीजीपी डीएम अवस्थी ने पूरी घटना को शर्मनाक और जघन्य करार दिया। उन्होंने कहा कि आरोपी को पुलिस बल में रहने का कोई हक नहीं है। उन्होंने कहा, ”मैंने एसपी को आरोपी को जल्द से जल्द बर्खास्त करने के लिए बोल दिया है।”